प्रदेश को मंजूर की एक भी योजना न गिना पाए पीएम

आश्रय शर्मा बोले, खड्ड में बहते नमक के पानी का उद्घाटन कर सांसद ने किया भद्दा मजाक

बरोट –मंडी संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा ने शुक्रवार को मंडी लोकसभा क्षेत्र के पद्धर विधानसभा क्षेत्र की दुर्गम घाटी  चौहार घाटी के बोचिंग, लपास, बरधान, द्रंग व अन्य स्थानों पर चुनाव प्रचार किया। इस मौके पर पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर भी उनके  साथ विशेष रूप से मौजूद रहे। इस मौके पर आश्रय शर्मा ने कहा कि मंडी के सांसद ने पांच साल में अगर कोई कार्य किया होता तो आज उन्हें वोट मांगने के लिए पीएम व सीएम का सहारा न लेना पड़ता। उन्होंने कहा कि सांसद अपनी हार स्वीकर कर चुके हंै, इसलिए पहले मुख्यमंत्री बार-बार मंडी संसदीय क्षेत्र का दौरा कर उनकी नैया पार लगाने का प्रयास करते रहे, लेकिन जब जनता में मुख्यमंत्री की कोई सुनवाई न हुई तो अब उन्हें प्रधानमंत्री की मंडी में रैली करवाने को मजबूर होना पड़ा है, लेकिन रैली में प्रधानमंत्री ने भाजपा प्रत्याशी, जिसके लिए रैली आयोजित की गई का नाम तक नहीं लिया, जो साबित करता है कि भाजपा सांसद का बोझ ढोह रही है। अपने भाषण में प्रधानमंत्री भी पांच साल में हिमाचल को मंजूर की गई एक भी योजना नहीं गिना पाए। उन्होंने कहा कि यहां की जनता जुमलेबाज भाजपा और इसके नेताओं को पहचान चुकी है। यह लाख जुगाड़ लगा ले पर यहां की जनता ने कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा के शासनकाल में पूरे देश में भय का वातावरण बना हुआ है। भाजपा ने जो वादे देश के साथ किए थे, उनमें से एक भी पूरा नहीं हुआ है। सांसद भी पांच साल तक जनता की चिंता छोड़ सत्ता सुख भोगने में लगे रहे। उन्होंने कहा कि सांसद ने पद्धर में बंद पड़ी नमक खान शुरू करवाने की बात कही थी, लेकिन वह इसे शुरू करवाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हुए। उन्होंने कहा कि 28 नवंबर, 2018 को खड्ड में बहने वाले नमक के पानी पर नल लगवा कर उसका उद्घाटन कर दिया और दावा किया कि यह अब जनता को निःशुल्क उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि खड्ड में बहने वाला यह पानी दशकों से लोग प्रयोग कर रहे हैं। इस पर दस रुपए का नल लगाकर उद्घाटन करना क्षेत्र की जनता के साथ मजाक है। उन्होंने कहा कि चौहार घाटी के लोगों ने बताया कि सांसद 2014 में जीत के बाद उनके इलाके में आए ही नहीं न विकास के नाम पर कोई फूटी कौड़ी दी। स्थानीय लोगों में जिस कारण भारी नाराजगी है और उन्होंने कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने का मन बना लिया है।

You might also like