प्रवासी मजदूर का बेटा जेएनवी को सिलेक्ट

झारखंड से मंडी पहुंच मजदूरी कर रहे परिवार के होनहार ने चमकाया नाम

मंडी –आमतौर पर मजदूरी करने आने वाले प्रवासी लोगों के बच्चे स्कूलों में पढ़ नहीं पाते, क्योंकि इनका कोई निश्चित ठिकाना नहीं होता, मगर अजय प्रधान के साथ ऐसा नहीं हुआ। अजय की अपनी मेहनत व उसके परिवार की कोशिशों के साथ पाठशाला के शिक्षकों के मार्गदर्शन का यह असर हुआ कि अजय प्रधान अब प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान जवाहर नवोदय विद्यालय में पढ़ेगा। झारखंड से आकर यहां मजदूरी करके अपने परिवार का पालन-पोषण करने वाले मजदूर संजय व रीना प्रधान के बेटे अजय प्रधान ने जवाहर नवोदय विद्यालय की प्रवेश परीक्षा पास की है। अब वह छठी कक्षा में जवाहर नवोदय विद्यालय में दाखिला लेगा। मंडी शहर के पड्डल स्थित केंद्रीय राजकीय पाठशाला में अजय प्रधान पांचवीं कक्षा का छात्र रहा और उसने शिक्षकों की प्रेरणा व मार्गदर्शन से जवाहर नवोदय विद्यालय की प्रवेश परीक्षा की तैयारी की तथा उसके लिए चयनित भी हो गया। अजय प्रधान के पिता व परिवार के अन्य लोग शहर के साथ लगते मोतीपुर कांगणी धार में चल रहे कार्यों में मजदूरी का काम करते हैं। उन्होंने हिम्मत व समझ दिखाई, जो अपने बच्चों को पड्डल स्थित सरकारी स्कूल में पढ़ने डाल दिया।  पाठशाला के मुख्याध्यापक गोबिंद राम ने बताया कि आज सबकी मेहनत रंग लाई और अजय प्रधान छठी कक्षा के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय हेतु चयनित हो गया। उसके चयन की खबर पर अध्यापकों ने उसे मिठाई खिलाकर बधाई व शुभकामनाएं दीं।

 

You might also like