फूलकां में नशा करने वालों का बहिष्कार

सिरसा – हरियाणा के अंतिम छोर पर बसा तथा पंजाब से सटा तथा नशा करोबार का हब बना सिरसा जिले का एक गांव फुलकां के लोगों ने नई पीढ़ी को नशे से बचाने के लिए सर्वसम्मति से ऐसे लोगों का बहिष्कार करने का फैसला किया है, जो नशे को बढ़ावा देंगे। ज्ञातव्य है कि जिले का कोई गांव नहीं बचा है, जो हेरोइन या फिर अन्य नशे की गिरफ्त में न हो। फूलकां गांव के पंचायत घर में लोगों ने युवाओं में बढ़ रही हेरोइन (चिट्टे) के नशे की प्रवृत्ति के खिलाफ एकजुट होकर एक स्वर में कहा कि गांव के युवाओं में पिछले काफी समय से चिट्टे के नशे की लत बढ़ती जा रही है, जिससे युवा नशे की चपेट में आकर आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के साथ-साथ मौत के मुंह में जा रहे है। युवा वर्ग को नशे के गर्त से निकालना है, तो ग्रामीणों को स्वयं पहल करनी होगी और अपने बच्चों का स्वयं ध्यान रखना होगा। गांव में कौन-कौन नशा करता है, कौन नशे की सप्लाई करता है, सभी का डाटा तैयार करना होगा। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों का सभी को बहिष्कार करना होगा, जो नशे को बढ़ावा दे रहे हैं।

You might also like