फ्लैग-डे फंड: शीला बनी नंबर वन

हमीरपुर -नेशनल फ्लैग डे फंड में सर्वाधिक योगदान देने वाली शीला देवी हिमाचल की पहली महिला बन गई। इन्होंने एक पेंशन हिमाचल के जवानांे के नाम करने का फैसला लिया है। शुक्रवार को उन्होंने हिमाचल प्रदेश सैनिक कल्याण बोर्ड में पहुंचकर निदेशक को 31 हजार रुपए की राशि सौंपी। कहा जब तक जिंदा रहूंगी हर साल एक महीने की पैंशन फ्लैग डे फंड मंे देती रहूंगी। अगर चलने फिरने में असमर्थ हो गई तो परिवार के किसी सदस्य के हाथ भिजवा दूंगी। अब तक के इतिहास में फ्लैग डे फंड में व्यक्तिगत तौर पर किसी एक व्यक्ति द्वारा दी गई यह सबसे अधिक राशि है। हालांकि अभी तक व्यक्तिगत तौर पर किसी एक व्यक्ति द्वारा दी गई सर्वाधिक राशि का आंकड़ा 15 हजार रुपए था। शिमला व कांगड़ा से किन्हीं दो व्यक्तियों ने इस अंकाड़े तक की राशि दान की है। बता दें कि शीला देवी(85)पत्नी स्व. कैप्टन जगदीश चंद शर्मा निवासी ऊना (पीपलू) शुक्रवार को सैनिक कल्याण बोर्ड पहुंची। यहां पहुंचकर इन्होंने अपने पति की याद में 31 हजार रुपए की राशि वीर जवानों व उनके आश्रितों के लिए समर्पित की। फ्लैग डे फंड में इस राशि को शामिल किया गया है। फ्लैग डे फंड के माध्यम से इसे जरूरतमंदों को दिया जाएगा। शीला देवी ने बताया कि पति स्व. कैप्टन जगदीश चंद शर्मा की बदौलत ही आज वह पैंशन ले रही हैं। उन्होंने वर्षों सेना में रहकर देश की सेवा की है। उनके जाने के बाद अब एक माह की पैंशन वीर जवानों को समर्पित करने का निर्णय लिया है। उनके इस फैसले की सैनिक बोर्ड के निदेशक सुरेश कुमार वर्मा ने भी सराहना की। उन्होंने कहा कि किसी भी एक व्यक्ति द्वारा दी गई यह सर्वाधिक राशि है। इसके लिए उन्होंने शीला देवी का आभार जताया। ब्रिगेडियर सुरेश कुमार वर्मा ने लोगों से आग्रह किय कि फ्लैग डे फंड में अधिक से अधिक योगदान करें। आपके द्वारा किया गया योगदान कई परिवारों को राहत पहंुचता है। पूर्व सैनिकों व उनके आश्रितों को इस फंड से मदद दी जाती है।

 

You might also like