बंगाल में दो और अफसर हटाए

इलेक्शन कमीशन ने छुट्टी पर भेजे; चुनाव ड्यूटी भी छीनी, विद्यासागर मामले में जांच को एसआइटी का गठन

कोलकाता – पश्चिम बंगाल में गुरुवार को भी चुनाव आयोग ने कई कड़े फैसले लिए। चुनाव आयोग ने राज्य में सातवें चरण के चुनाव से पहले डायमंड हार्बर से दो अधिकारियों को चुनाव की ड्यूटी से हटा दिया है। आयोग ने गुरुवार शाम एसडीपीओ-डायमंड हार्बर मिथुन कुमार डे और आफिस इंचार्ज- एमहर्स स्ट्रीट कौशिक दास को  तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। ये दोनों अधिकारी चुनाव ड्यूटी से भी हटा दिए गए हैं। टीएमसी का गढ़ मानी जाने वाली डायमंड हार्बर सीट से सीएम ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी चुनाव मैदान में हैं।  वहीं , कोलकाता पुलिस ने ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने के मामले में जांच के लिए एसआइटी का गठन कर दिया है। गौरतलब है कि बुधवार को चुनाव आयोग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए चुनाव प्रचार के समय में 24 घंटे की कटौती की थी। कई विपक्षी दलों ने आयोग के इस फैसले की कड़ी आलोचना की थी। बता दें कि मंगलवार को कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान खूब हंगामा हुआ था। बीजेपी और टीएमसी ने हिंसा के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराया था। चुनाव आयोग ने हिंसा पर कार्रवाई करते हुए चुनाव प्रचार के समय में कटौती की थी। इसके साथ ही प्रमुख सचिव गृह और स्वास्थ्य को तत्काल प्रभाव से हटा दिया था और सीआईडी के एडीजी राजीव कुमार को भी हटा दिया था। चुनाव आयोग ने कहा कि शायद यह पहला मौका है, जब चुनाव आयोग ने आर्टिकल 324 का प्रयोग किया है, लेकिन कानून व्यवस्था का फिर से पालन न होने पर, हिंसा होने पर और चुनाव के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन होने पर यह कदम फिर से उठाया जा सकता है।

You might also like