बंगाल हिंसा पर सियासत

बवाल के लिए टीएमसी जिम्मेदार

नई दिल्ली – पश्चिम बंगाल में जारी बवाल और मंगलवार को रोड शो में हुई हिंसा के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कुछ तस्वीरें दिखाकर दावा किया कि रोड शो में हिंसा टीएमसी के लोगों ने की और टीएमसी के ही गुंडों ने ईश्वर चंद विद्यासागर की प्रतिमा भी तोड़ी। शाह ने बंगाल में टीएमसी के दिन खत्म होने का ऐलान करते हुए कहा कि बीजेपी बंगाल में क्लीन स्वीप करने जा रही है। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि बंगाल में छह चरणों में हिंसा हुई, जबकि अन्य राज्यों में इस तरह से हिंसा नहीं हुई। उन्होंने कहा कि बंगाल में छह के छह चरण में हिंसा हुई और इसका मतलब ही है कि हिंसा का कारण तृणमूल है बीजेपी नहीं। मंगलवार को बीजेपी के रोड शो से तीन घंटे पहले ही जो पोस्टर बैनर लगाए थे, उसको हटाने का काम किया गया। पुलिस मूकदर्शक बनी रही। वहां पर हमारे कार्यकर्ताओं को उकसाने का काम किया गया। बीजेपी के पोस्टर उखाड़े गए। तृणमूल पर हमले का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा कि मंगलवार को मैं सौभाग्य से ही सीआरपीएफ सुरक्षा के कारण बचकर निकला।

बाहर से लोगों को ला रही बीजेपी

संबंधित इमेजकोलकाता – तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को को आरोप लगाया कि हिंसा भड़काने के लिए बीजेपी बाहर से पैसे और लोगों को ला रही है। हवाला के जरिए बीजेपी पर पैसे पहुंचाने का आरोप लगाते हुए ममता ने कहा कि बीजेपी ने चुनाव आयोग के नाम पर राज्य के प्रशासन पर नियंत्रण कर लिया है। कोलकाता और बिधाननगर के पुलिस कमिश्नरों को बदलकर उन्होंने अपने लोग बैठाए हैं। अगर मेरे पुलिस कमिश्नर यहां तैनात रहते तो वे बीजेपी को करोड़ों रुपए की तस्करी करने से रोकते। मंगलवार को ममता बनर्जी ने कोलकाता और बिधाननगर के पुलिस कमिश्नरों को शहर में अवैध रूप से आ रहे पैसे को जब्त करने के लिए कार्रवाई के निर्देश दिए। ममता ने आरोप लगाया कि केंद्रीय बलों को लेकर आ रही गाडि़यों के जरिए बीजेपी के उम्मीदवारों को पैसे की सप्लाई हो रही है। बीजेपी पर बंगाल में हिंसा भड़काने का आरोप लगाते हुए ममता ने कहा कि यहां तक कि मामूली बीजेपी नेता जिनके खिलाफ पुलिस में कई केस दर्ज हैं वे आठ ब्लैक कैट कमांडो लेकर घूम रहे हैं और पैसे पहुंचा रहे हैं।

बंगाल में कश्मीर से भी बदतर हालात

संबंधित इमेजनई दिल्ली – कोलकाता में मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा और आगजनी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। एक निजी चैनल से बातचीत में पीएम मोदी ने ममता बनर्जी सरकार पर सवाल उठाते हुए पश्चिम बंगाल की स्थिति को कश्मीर से भी बदतर बताया। पीएम मोदी ने कहा कि कश्मीर हिंसा और आतंकवाद के लिए जाना जाता है। कश्मीर में पंचायत के चुनाव हुए। एक भी पोलिंग बूथ पर हिंसा की एक भी घटना नहीं हुई। उसी समय पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव हुए। सैकड़ों लोग मारे गए, जो जीतकर आए उनके घर जला दिए गए। जो जीतकर आए उन्हें झारखंड और पड़ोसी राज्यों में मुंह छिपाकर रहना पड़ा। उनका गुनाह था कि वे जीत कर आए। उस समय लोकतंत्र की बात करने वाले और खुद को न्यूट्रल कहने वाले चुप रहे। इससे उनको बल मिलता गया। पीएम मोदी ने कहा कि ममता बनर्जी को बीजेपी, लेफ्ट या कांग्रेस का डर नहीं है, बल्कि उन्हें बंगाल की जनता से डर लग रहा है। उन्हें भय है कि बंगाल की जनता अगर खड़ी हो गई तो उनका (ममता) भविष्य अधर में चला जाएगा।

बगदादी से प्रेरित होकर बनना चाहती हैं बगदीदी

योगी आदित्यनाथ के लिए इमेज परिणामलखनऊ – पश्चिम बंगाल में रैली करने पहुंचे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ममता बनर्जी पर विवादित बयान देते हुए उनकी तुलना आईएस सरगना बगदादी से कर दी। योगी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि बगदादी से प्रभावित होकर बगदीदी बनने का आपका (ममता) सपना भारत मां के सच्चे सपूत वोट की चोट से तोड़कर रहेंगे। बीजेपी से भयभीत ममता बंगाल में सभाओं के मंच तोड़कर, मजदूरों को पीटकर, रैलियां रद्द करवाकर बंगाल को क्या बनाना चाहती हैं? याद रखिए, बंगाल भारत का अभिन्न अंग है, बगदादी से प्रभावित होकर बगदीदी बनने का आपका सपना भारत मां के सच्चे सपूत वोट की चोट से तोड़कर रहेंगे।

सद्दाम हुसैन जैसा व्यवहार कर रहीं तानाशाह दीदी

संबंधित इमेजनई दिल्ली – बालीवुड एक्टर विवेक ओबेरॉय ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला करते हुए उनकी तुलना इराक के दिवंगत तानाशाह सद्दाम हुसैन से की है। चुनाव बाद रिलीज होने जा रही पीएम मोदी की बायॉपिक में लीड रोल निभाने वाले ओबेरॉय ने ममता के ‘लोकतंत्र खतरे में है’ बयान से जुड़ी खबर का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए ट्वीट किया कि मैं समझ नहीं पाता हूं कि दीदी जैसी सम्मानित महिला क्यों सद्दाम हुसैन की तरह व्यवहार कर रही हैं! विडंबना देखिए, कि लोकतंत्र खतरे में है और उसे खुद तानाशाह दीदी से खतरा है। पहले प्रियंका शर्मा और अब तजिंदर बग्गा। यह दीदीगीरी नहीं चलेगी।

You might also like