बजट है,तो काम क्यों नहीं

सरकाघाट -पौने दो वर्ष बीत गए नोटिफिकेशन हुए और बजट प्रावधान के बाद भी दारपा बकारटा, परसदा हवाणी व चौरी मंे पीएचसी का निर्माण शुरू नहीं हो पाया है। बता दें कि विधानसभा क्षेत्रों के पुनर्गठन के बाद धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में आई चार पंचायतों बरच्छवाड, बकारटा, दारपा, रखोह और उपमंडल सरकाघाट की ग्राम पंचायत चौरी और परसदा हवाणी के लोगों की निरंतर मांग पर प्रदेश की पूर्व कांंग्रेस सरकार ने अक्तूबर, 2017  में चारों पंचायतों के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने और भवनों के निर्माण के लिए हस्तशिल्प व हथकरघा निगम के अध्यक्ष चंद्रशेखर ने तत्कालीन प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से घोषणा ही नहीं करवाई थी, अपितु इन पंचायतों में बजट प्रावधान करने के पश्चात नोटिफिकेशन कर दी थी, लेकिन प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद वर्तमान जयराम ठाकुर की सरकार ने इस मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया और पौने दो वर्ष का समय हो गया और न तो इन सभी पंचायतों में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र निर्माण तो दूर आज तक एक ईंट नही लगी है। जबकि विभाग द्वारा भवन निर्माण के लिए भूमि भी चयनित कर ली गई  है। ब्लॉक कांग्रेस युवा अध्यक्ष रितेश ठाकुर, पूर्व प्रधान सरवण कुमार, पूर्व प्रधान जोगेंद्र सिंह, जिला सचिव अधिवक्ता मनोज जम्वाल, धर्मपुर विधानसभा से आजाद प्रत्याशी डा. पीसी भारद्वाज, नबाही वार्ड से जिला परिषद प्रत्याशी रहे। चौरी पंचायत के प्रधान रोशन लाल शर्मा,  राजेंद्र सूर्यवंशी, बीडीसी सदस्य अनिल शर्मा, पूर्व बीडीसी सदस्य रणजीत सिंह और एडवोकेट अजय ठाकुर ने कहा कि चुनाव भी हो गए है आचार संहिता भी हट गई है। अब तो दारपा बकारटा, चौरी व परसदा हवाणी पंचायतों मंे प्रार्थमिक स्वास्थ्य केंद्र बनाए जाने से दारपा, बकारटा, रखोह, वरच्छवाड़, परसदा हवाणी और चौरी पंचायतों मंे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का निर्माण कार्य शुरू किया जाए ताकि लोगों को इसका लाभ मिल सके।

You might also like