बला मंदिर से हटाई जाए धारा-144

बंजार —मंगलवार को बलागाड़ का हारियान बंजार एसडीएम कार्यालय पहुंचा। गौरतलब है कि कुछ  दिनों से बला और लाहुंड के हारियानों के बीच देवताओं को लेकर तनातनी होती रही। जिस कारण मजबूरन प्रशासन को धारा-144 लगवानी पड़ी है। इस धारा के चलते लाहुंड वाले हारियान नीचे बला मंदिर व नीचे वाले ऊपर लाहुंड देवालय में नहीं जा सकते थे। गत दिन लाहंुड की माता त्रिपूरावाला सुंदरी व देवता मार्कंडेय आने से हारियानों के साथ पुरातन बलामंदिर में आए धारा 144 का उल्लंघन करने पर पुलिस ने लोगों के पर केस दर्ज किया है। इस बात को लेकर मंगलवार को लाहुंड के हारियान बंजार प्रशासन के समक्ष उपस्थित हुए। देवता मार्कंडेय व त्रिपूरा वाला सुंदरी लाहुंड के कारदार पूरण चंद, कुलदीप राठौर , हरि सिंह, देव शर्मा, परमानंद, घनश्याम, दूनी चंद, नरेश ठाकुर, मोहर सिंह, आलम चंद, चेत राम, खूब राम तथा हारियानों नेे तहसीलदार के माध्यम से एसडीएम बंजार को ज्ञाापन सौंपा। ज्ञाापन में प्रशासन से आग्रह किया है कि देवता मार्कंडेय ऋषि व माता त्रिपूरा वाला सुंदरी लाहुंड भूतपूर्व से बला मंदिर में देव कार्य का निर्वाहन करते आ रहे हैं। यह परंपरा बड़ी पुरातन है। आने वाले समय में भी बला मंदिर में देव कार्य किए जाएंगे।  बला मंदिर में लगााई धारा 144 को हटाया जाए और बला मंदिर सभी हारियानों का है। देवता का लाहुंड में रहने का समय समापत होे गया हैै और देवी व देवता इसी माह बला में आकर रहेंगे। उक्त सभी लोगों ने ज्ञापन के माध्यम से आग्रह किया है कि उपरोक्त विषय पर कार्रवाई न हुई तो समस्त हारियान बंजार में आकर चक्का जाम करने से गुरेज नहीं करेंगे और इस का जिम्मेवार प्रशासन होगा। उधर, इस बावत एसडीएम बंजार एमआर भारद्वाज ने कहा कि लाहुंड के हारियानों ने  तहसीलदार के माध्यम से ज्ञापन सौंपा है।

You might also like