बसंतपुर में सेना की गाड़ी राख

सुन्नी—शिमला ग्रामीण के बसंतपुर के समीप नडुखर जगोटिनाला में मंगलवार को सेना के चलते हुए वाहन में आग लग गई। अचानक घटित उक्त घटना में वाहन पूरी तरह से जल गया। गनीमत रही कि उसमें चालक एवं सूबेदार सहित सेना के नौ जवान सुरक्षित बच गए। हालांकि जवानों का सामान, जिसमंे कुछ नकदी एवं आवश्यक दस्तावेज भी थे आग की भेंट चढ़ गए। सुबह करीब पौने नौ बजे घटी उक्त घटना से अफरा तफरी मच गई। घटना की सूचना मिलने के तुरंत बाद सुन्नी से अग्निशमन बल मौके पर पहुंचा तथा जलते हुए वाहन पर काबू पाया। हालांकि तब तक वाहन का काफी नुकसान हो चुका था। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुन्नी के साथ लगते करसोग के थली में कार्यरत 133 इन्फेंट्री डोगरा बटालियन का वाहन मंगलवार को राशन के लिए कुफरी स्थित मुख्यालय जा रहा था कि बसंतपुर से लगभग तीन किलोमीटर दूर नडुखर जगोटिनाला में पंहुचने पर आग लग गई। आग इतनी तेजी से फैल गई कि जवानों ने अपने सामान की परवाह किए बगैर ही कूद कर अपनी जान बचाई, जिस जगह वाहन में आग लगी वह स्थान कुछ संकरा है, जिस कारण आवाजाही करने वाले अन्य वाहन भी जहां के तहां रुक गए, जिससे दोनों तरफ वाहनों की लंबी लाइन लग गई। इसी कारण यातयात लगभग तीन घंटे बाधित भी रहा। अग्निशमन अधिकारियों के अनुसार वाहन का शाफ्ट टूटने के कारण वाहन में आग लग गई। शाफ्ट टूटकर तेल की टंकी से टकराई, जिससे तेल का रिसाव होने लगा जो कि स्लाइन्सर पर गिरा और भयंकर आग का कारण बना। डिविजनल अग्निशमन अधिकारी डीसी शर्मा ने बताया कि सेना के वाहन में लगी आग की सूचना मिलते ही सुन्नी केंद्र से पांच कर्मचारी आधे घंटे के भीतर तुरंत घटनास्थल पर पहुंच गए। घटनास्थल की दूरी अधिक एवं ज्वलनशील पदार्थ के कारण वाहन को बचाया नहीं जा सका जबकि आग पर पूरी तरह काबू पा लिया गया।

घटनास्थल पर लगा लोगों का जमावड़ा

शिमला के बसंतपुर के समीप सेना के वाहन में आग लगने से घटनास्थल पर लोगों का जमावड़ा लग गया। दर्जनों वाहनों के यात्री एवं स्थानीय लोग फोटो खींचने एवं वीडियो बनाने में व्यस्त रहे। वाहन में लगी आग इतनी भयंकर थी कि कुछ ही मिनटों में पूरे वाहन को अपनी चपेट में ले लिया। आग लगने के बाद अग्निशमन चौकी सुन्नी को दमकल केन्द्र मालरोड से 8.45 बजे सूचना मिलते ही 8.46 पर दमकल वाहन घटनास्थल के लिए रवाना हो गया।

You might also like