‘बांकी पौटू आली’पर थिरके बंजारवासी

बंजार—जिला स्तरीय बंजार मेले की अंतिम सांस्कृतिक संध्या में प्रसिद्ध लोक कलाकार नरेंद्र ठाकुर ने अपनी गीतों से खूब धमाल मचाया। इससे पहले मोहन गुलेरिया, जीवन बुडाल, हिमांशु शर्मा, टिविंकल, गंगा, तेजा सिंह, पूजा चौधरी, सोहनलाल सागर, अनु, गिरधारी लाल, मोहर सिंह, धु्रव ठाकुर, जेएस ठाकुर, कुर्मदत भारती, दुष्यंत सैंज, हेमराज, यशवंत सिंह चुनीलाल, रमेश कुमार,  देवेंद्र, मदनलाल, तिलकराज, योगी चौहान, कमलेश कुमार, पवन, डिंपल,  सुनील, लाल चंद, श्याम लाल आदि अनेक कलाकारों ने गीतों को पेश कर दर्शकों को झूमाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। इसके बाद रमेश ठाकुर ने मंच संभालते ही दर्शकों में जोश भरा और सैंज हारा होटल, बांकी पड़ोसन, तेरा नाम मेरे दिल बसाना तेरी नगरी, राधा घरदेणि, शांता लाड़ी, कौन परदेसी दिल ले गया, बांकी पौटू आली, बांका तेरा नजारा आदि गीतों के गाकर समां बांधा व दर्शकों का पंडाल अपनी मधुर ध्वनि से आकर्षित करते हुए खचाखच भर दिया इसके बाद एसएस ठाकुर ने तेरी तेरी खातिर खाणा बणाया खांदे खांदे आई तेरी याद गाने गाए। अंत में  इस अंतिम सांस्कृतिक संध्या के स्टार कलाकार नरेंद्र ठाकुर ने मंच संभाला, जिनका दर्शकों ने सीटियों व तालियों से अभिनंदन किया। नरेंद्र ठाकुर ने जान आसे तेबे आपणी गे खोई, झूरी रे बोला दांदड़ू, बोतला फूटी हाए रे नातिया गीत गाकर दर्शकों को नचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।  इस सांस्कृतिक संध्या में मुख्यातिथि होम गार्ड के कमांडेंट निश्चिंत सिंह नेगी ने शिरकत की। जिनका मेला कमेटी के सदस्यों ने पारंपरिक तरीके से टोपी मफलर व स्मृति चिन्ह भेंट करके स्वागत किया। इस अवसर पर डीएफओ प्रवीण ठाकुर, नरेंद्र शौरी, बली राम, टीसी डोगरा, एसएचओ नरेश शर्मा, मंगलौर की प्रधान बीना भारती आदि अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

You might also like