बागबानी मंत्री के खिलाफ शिकाय

जुब्बल के बागबान संदीप ने एडीजी विजिलेंस को भेजी चिट्ठी

शिमला – प्रदेश सरकार के बागबानी मंत्री महेंद्र सिंह के खिलाफ जुब्बल के एक बागबान ने पौधे आबंटन को लेकर विजिलेंस से शिकायत की है। बागबान संदीप सेहटा ने राज्य विजिलेंस के एडीजी को चिट्ठी लिख कर इसकी जांच करने की मांग की है। बागबान ने बंद लिफाफे में विजिलेंस को लिखी चिट्ठी को मीडिया में भी बांटी गई है। उनका आरोप है कि प्रदेश सरकार और नौणी विवि ने सरकार के बागबानी मंत्री और उनके परिवार को सेब के पौधे आबंटित करने का लाभ पहुंचाया है। उनका आरोप है कि बागबानी मंत्री ने बगथान और बजौरा से बिना किसी जांच के ही पौधों की सप्लाई की। इसके साथ-साथ इन नर्सरियों से बागबानों को पौधे वितरित किए गए उनके दाम पांच सौ रुपए प्रति पौधा था। उनका आरोप है कि इन दो नर्सरियों से 32 सौ पौधे वितरित किए, जिसमें से 12 सौ पौधे मंत्री की नर्सरी और दो हजार पौधे मंत्री की बेटी के पौधे थे। जुब्बल के बागबान संदीप सेहटा ने विजिलेंस से मांग की है कि इस भ्रष्टाचार और परिवार की दुकानदारी की जांच होनी चाहिए। उधर, राज्य विजिलेंस मुख्यालय शिमला को अभी तक बगाबान द्वारा लगाए गए आरोपों से संबंधित कोई चिट्ठी नहीं मिली है। उल्लेखनीय है कि पूर्व की कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान करोड़ों के सेब के पौधे बागबानों को वितरित किए थे, जिसकी सप्लाई पौधे रोपने के सीजन के बाद की गई थी। इसके साथ-साथ 50 से 60 प्रतिशत पौधे सूख चुके थे। पूर्व सरकार के कार्यकाल के दौरान हुए भ्रष्टाचार मामले पर प्रदेश की जयराम सरकार ने जांच भी शुरू कर दी है।

You might also like