बाजार में अब हिमाचली फलों का कब्जा

शिमला —अब बाजार में हिमाचली फलों का कब्जा होगा। हिमाचल में चेरी के साथ फू्रट सीजन की शुरूआत हो गई है। जिला शिमला के ऊपरी क्षेत्रों से चेरी के बाक्स फल मंडियों में पहुंचने शुरू हो गए हैं। मई माह के आखिरी सप्ताह तक स्टोन फ्रूट (खुमानी), आड़ू, प्लम भी मार्केट में दस्तक दे देंगे, जबकि जुलाई माह के दौरान सेब की अर्ली वैरायटी भी मार्केट में पहुंचनी शुरू हो जाएगी। राज्य की सबसे महंगी फल मंडी ढली में बीते शनिवार को चेरी के बाक्स पहुंचे हैं। चेरी के ये बाक्स ऊपरी शिमला के कुमारसैन क्षेत्र से मार्केट में पहुंचे हैं। जिला शिमला के कुमारसैन, कोटगढ़, मतियाना और कोटखाई में बागबानों ने बागीचों में चेरी के पौधे लगाए हुए हैं, जिसमें फसल तैयार हो गई है। फसल के तैयार होते ही बागबानों ने इसको मार्केट तक पहुंचाना शुरू कर दिया है। मार्केट में फू्रट सीजन की पहली फसल के अराइवल के साथ मंडियों में भी चहल-पहल आरंभ हो गई है।

एक किलो की पैकिंग में पहुंच रहे हैं बाक्स

फल मंडी में पहुंच रही चेरी के बाक्स एक किलोग्राम की पैकिंग में आ रहे हैं। जानकारी के तहत शुरूआत में चेरी का एक किलो का बाक्स 80 से 150 रुपए के मध्य बिका। बागबान आगामी दिनों में दामों में और उछाल आने की संभावना जता रहे हैं।

जिला में अच्छी फसल की उम्मीद

जिला शिमला में मौजूदा सीजन के दौरान अच्छी पैदावार की उम्मीदें लगाई जा रही हैं। जिला में विंटर सीजन के दौरान अच्छी बर्फबारी व बारिश हुई है। हालांकि जिला में बीते दिनों के दौरान हुई ओलावृष्टि व बारिश से फल को नुकसान पहुंचा है, मगर इसके बावजूद जिला में अच्छी पैदावार की उम्मीदें लगाई जा रही हैं।

You might also like