बाराबंकी में जहरीली शराब से मृतक संख्या बढ़कर 17,चार गिरफ्तार

 

बाराबंकी में जहरीली शराब से मृतक संख्या बढ़कर 17,चार गिरफ्तार

बाराबंकी-उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले के रामनगर क्षेत्र में जहरीली शराब के सेवन से अब तक 17 लोगों की मृत्यु हो गयी जबकि 40 से अधिक लोगों का विभिन्न अस्पतालों में उपचार चल रहा है। इस सिलसिले में अभी तक चार आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। जिलाधिकारी उदय भानु त्रिपाठी ने बुधवार सुबह यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि रामनगर क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से 17 लाेगों के मरने की सूचना है । उन्होंने बताया कि 35 लोगों का लखनऊ के ट्रामा सेंटर जबकि अन्य कई लोगों का बाराबंकी में उपचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि शराब पीने से मरने वाले दो लोगाें का अंतिम संस्कार उनके परिजनों ने पहले ही कर दिया। उसकी जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि मृतकों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा। इसमें दो लोगों की बीमारी के कारण मृत्यु होना बताया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर स्थिति स्पष्ट हाे सकेगी। उन्होंने बताया कि रात 11 बजे तक 16 लोगों की मृत्यु होने की सूचना थी जबकि हरिलाल नामक एक व्यक्ति की आज मृत्यु हो गई। उन्होंने बताया कि मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के पहले ही आदेश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस मामले में चार लोगों शिव जायसवाल, सुनील जायसवाल, पिताम्बर जायसवाल की कल जबकि 20 हजार रुपये के इनामी पप्पू जायसवाल को बुधवार सुबह रामनगर इलाके के अमराही घुड गांव स्थित उसके फार्म हाऊस पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका)लगाने की तैयारी की जा रही है। गाैरतलब है कि रामनगर क्षेत्र रामनगर क्षेत्र के अलग-अलग गांव के ग्रामीणों ने एक सरकारी देशी शराब की दुकान से सोमवार रात खरीद कर पी थी। शराब पीने के बाद मंगलवार सुबह लोगों की तबीयत बिड़ने के मौत का सिलसिला शुरु हुआ जो अभी तक जारी है। इस मामले में जिला आबकारी अधिकारी, रामनगर के सीओ, एसएचओ व आबकारी निरीक्षक सहित 15 कर्मचारियों को निलंबित किया जा चुका है। इस मामले में पुलिस ने शराब की दुकान के अनुज्ञापी (लाइसेंस धारक) दानवीर सिंह समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है । बुधवार सुबह 20 हजार के इनामी पप्पू जायसवाल समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

 

You might also like