बार-बार सुनें श्रीमद्भागवत कथा

दौलतपुर चौक। भगवान को वश में करने का सबसे और सरल मार्ग है, गो भागवत कथा का श्रवण और पाठ। क्योंकि जब भी कोई व्यक्ति श्रीमद्भागवत के श्रवण और पाठ की इच्छा करता है, भगवान उसी समय उसके हृदय की दीवारों में आकर बस जाते हैं। जब तक जीवन है तब तक इस दिव्य भागवत रस का निरंतर बार-बार श्रवण करना चाहिए। उक्त प्रवचन डेरा अंबोआ में आयोजित की जा रही श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन रविवार को  कथा वाचक कृष्ण कन्हैया जोशी ने कहे।  इस दौरान गद्दी नशीन बाबा राकेश शाह ने अपने प्रवचनों की अमृतवर्षा से उपस्थित संगत को निहाल कर दिया। इस अवसर पर मोनू माता, राजेश शाह, गौ शाला कमेटी के अध्यक्ष अनिल लखनपाल, नरेंद्र कुमार, हरीश कुमार, हनी राजा, सन्नी, प्रदीप धीर, संदीप, चरनजीत, कल्याण, कैप्टन हैप्पी, जीत चौधरी, संजय पुर्जा इत्यादि उपस्थित थे।

You might also like