बिजली दरें बढ़ीं, तो आंदोलन

पंजाब में आप ने जताई बिजली रेगुलेटरी कमीशन से नाराजगी

चंडीगढ़ –पंजाब आम आदमी पार्टी (आप) ने पंजाब राज बिजली रेगुलेटरी कमीशन की तरफ से बिजली दरों में वृद्धि की तैयारियों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि यदि बिजली की दरों में वृद्धि हुई, तो पार्टी इसके विरोध में सड़कों पर उतरेगी। प्रतिपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि पंजाब देश के सबसे महंगी बिजली देने वाले राज्यों में शामिल है, जबकि चार वर्षों के दौरान दिल्ली सरकार ने दिल्ली को सबसे सस्ती बिजली मुहैया करवाने वाला राज्य बना दिया है। केजरीवाल सरकार से पहले दिल्ली भी सबसे महंगी बिजली दरें वसूलने वाला राज्य था। उन्होंने कहा कि यदि केजरीवाल सरकार ऐसा कर सकती है तो कैप्टन सरकार ऐसा क्यों नहीं कर सकती ।  दिल्ली सरकार तो एक भी यूनिट बिजली पैदा नहीं करती और प्राइवेट बिजली कंपनियों से बिजली खरीदती है। पंजाब में बिजली पैदा होती है। अब पंजाब सरकार को वर्ष में कई बार बिजली दरें बढ़ाने की जन विरोधी रीत बंद कर दिल्ली सरकार की तरह नई रीत शुरू करनी चाहिए। श्री चीमा ने बिजली रेगुलेटरी कमीशन की तरफ से मई महीने के अंत तक बिजली दरों में तीन प्रतिशत की वृद्धि की तैयारी का विरोध करते हुए कहा कि यदि कैप्टन सरकार अभी भी बिजली दरें और बढ़ाने से पीछे नहीं हटती, तो आम आदमी पार्टी इसका सड़कों से ले कर सदन तक जोरदार विरोध करेगी। राज्य सरकार को लोगों को सस्ती बिजली मुहैया कराने के लिए पिछली बादल सरकार के समय प्राइवेट बिजली कंपनियों के साथ किए गए महंगे और मिलीभगत वाले समझौते तुरंत रद्द कर नए सिरे से सस्ती बिजली खरीद के समझौते करने चाहिए ।

 

You might also like