बिजली महादेव चाहेंगे तो मोदी पहुंचेगा

संकल्प रैली में बोले प्रधानमंत्री, साथ ले जाऊंगा सेपूवड़ी, चायवाले को बोलना मेरा नमस्कार

मंडी -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पड्डल रैली के जरिए हिमाचल प्रदेश और विशेष कर मंडी व कुल्लू के साथ अपनी यादों को खूब ताजा किया। उन्होंने कहा कि हिमाचल के चप्पे-चप्पे से वाकिफ हूं और मंडी संसदीय क्षेत्र से तो बहुत सारी यादें जुड़ी हैं, जो यहां आकर ताजा हो जाती हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली से चला तो मौसम खराब बताया गया। तौ मैंने मन में सोचा की अगर बिजली महादेव चाहेंगे तो मोदी मंडी भी पहुंचेगा और जनसभा भी होगी। उन्होंने कहा कि वह एक बार खराब मौसम में चार घंटे बिजली महादेव में फंसे रहे थे। वहां चाय वाले ने मुझे चाय पिलाई थी। मोदी ने कहा कि जनता उस चाय वाले को मेरा नमस्कार जरूर कहे। उन्होंने कहा कि आपके बीच आकर सेपूवड़ी की याद न आए ऐसा नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि अगली बार मैं जब आउंगा तो सेपूवड़ी साथ लेकर जाउंगा। उन्होंने कहा कि रामस्वरूप शर्मा सांसद बनकर जब दिल्ली आए तो सेपूवड़ी लेकर आए, लेकिन थोड़ी-थोड़ी ही लाते हैं। मोदी ने कहा कि हिमाचल के लोगों से मेरा आत्मीयता का रिश्ता रहा है। अटल जी के साथ भी आता रहा हूं और कई यादें मेरी मंडी शहर से रही हैं। लोगों के घर-घर भोजन किया है। मैं कभी भूला नहीं हूं। उन्होंने मंडी से रामस्वरूप और कांगड़ा से किशन कपूर को जिताने का आह्वान कर अपने लिए समर्थन मांगा। लोग 12 बजे तक पंडाल और बाहर थे उतने और उससे ज्यादा लोग साढ़े तीन बजे तक थे। इनमें अधिकतर लोगों ने तो सुबह ही खाना खाया था। इसलिए यह नेता का करिश्मा ही है कि इतने लंबे समय तक जनता प्रधानमंत्री के इंतजार में बैठी रही। मंच के नेता जानते थे कि नेताओं के भाषण कम हैं और प्रधानमंत्री को आने में समय ज्यादा। जनता ऊब कर चले न जाए इसलिए कभी मंच संचालक जनता को पीएम के आने पर नारे लगाने की प्रैक्टिस करवाते रहे तो कभी मंच से पार्टी द्वारा प्रचार के लिए बनाए गए गाने सुनाते रहे। कम जोश से ही सही जनता उनके साथ नारे की प्रैक्टिस करती रही, लेकिन सीट किसी ने नहीं छोड़ी। इस रैली के बाद अब मंडी संसदीय क्षेत्र में भाजपा के हौंसले और बुलंद हो गए हैं।

You might also like