बिझड़ी बाजार में जाम हुआ आम

पार्किंग की सुविधा न होने से सड़क किनारे बेतरतीब खड़े वाहन बढ़ा रहे लोगों की परेशानी

बिझड़ी  -सड़क किनारे खड़े वाहनों के कारण लगभग हर दिन आम लोगों व वाहन चालकों को कई घंटे जाम में बिताने पड़ रहे हैं। स्कूल बसें व एंबुलेंस भी अकसर जाम में फंसी हुई देखी जा सकती हैं, लेकिन लगता है प्रशासन आंखें बंद कर सोया हुआ है। मामला बिझड़ी बाजार का है, जहां जाम की समस्या लगातार विकराल रूप धारण करती जा रही है। पुलिस विभाग की लगातार अपील व सख्ती के बावजूद  वाहन चालक अपनी मनमर्जी पर उतारू हैं। जहां भी सड़क किनारे जगह दिखाई दी वहीं गाड़ी लॉक कर पार्क कर दी जाती है। नतीजा पहले से ही तंग बाजार में कुछ ही मिनटों में भयंकर जाम लग जाता है। उपमंडल बड़सर का मुख्य कस्बा व दियोटसिद्ध को जाने वाली एकमात्र सड़क होने के कारण दिनभर इस बाजार से सैकड़ों गाडि़यां गुजरती हैं, लेकिन जाम के कारण श्रद्धालुओं, वाहन चालकों व राहगीरों को काफी परेशानियां उठानी पड़ती हैं। जाम लगने का कारण सड़क का संकरा होना व कहीं भी पार्किंग की व्यवस्था का न होना है, लेकिन इस समस्या को सड़क किनारे खड़े दोपहिया  वाहन व गाडि़यां और भी गंभीर बना देते हैं। स्कूल बसें तो अकसर इस जाम में फंसकर लेट हो ही जाती हैं, लेकिन अगर गंभीर मरीज को लेकर जा रही एंबुलेंस इस लंबे जाम में फंस जाए तथा मरीज की जान पर बन आए, तो जिम्मेदार कौन होगा। व्यापार मंडल बिझड़ी प्रधान बब्बी शर्मा, विनोद ठाकुर, रजनीश कांगो, सतीश कुमार, विजय धीमान, दर्शन, सतीश ठाकुर, रमन बन्याल व अन्य दुकानदारों का कहना है कि प्रशासन को बाजार में पार्किंग के लिए उपयुक्त जगह का निर्धारण करना चाहिए तथा सड़क किनारे अवैध रूप से खड़े किए गए वाहनों पर पुलिस विभाग सख्ती दिखाए तभी आम लोगों को राहत मिल सकती है। इस संदर्भ मंे डीएसपी बड़सर जसवीर ठाकुर का कहना है कि बिझड़ी बाजार की सड़क तंग होने व पार्किंग न होने के चलते समस्या पेश आती है। सड़क किनारे बाजार में वाहन पार्क करने की बिलकुल मनाही है। इन अवैध रूप से पार्क किए वाहनों की वजह से भी जाम लगता है। सड़क किनारे खड़े वाहनों के चालान किए जाते हैं तथा आगे भी सख्ती की जाएगी। उन्होंने वाहन मालिकों से भी पुलिस से सहयोग की अपील की है।

 

You might also like