बिना विस्थापन होगा एयरपोर्ट का विस्तार

जिला प्रशासन ने बनाई योजना, फोरलेन-रोप वे के काम को गति देने का प्लान 

धर्मशाला    – लोकसभा चुनावों के दौरान भले ही कांगड़ा संसदीय क्षेत्र ने बीजेपी को सबसे बड़ा जनादेश दिया है, लेकिन क्षेत्र की महत्त्वाकांक्षी परियोजनाओं पर काम न होने के मुद्दों पर सरकार को खूब घेरा गया। ऐसे में अब राज्य सरकार ने आचार संहिता हटते ही कांगड़ा एयरपोर्ट, फोरलेन, रोप-वे सहित तमाम बड़ी परियोजनाओं पर तेज गति से कार्य करने का निर्णय लिया है। अब कांगड़ा जिला प्रशासन ने संबंधित एजेंसियों से बैठकों का दौर शुरू कर काम तेज करने के निर्देश दिए हैं। कांगड़ा एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के लिए जिला प्रशासन ने भूमि संबंधी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। विस्तारीकरण के चक्कर में वहां बसे लोगों का विस्थापन न हो, इस दिशा में काम चल रहा है। बताया जा रहा है मौजूदा रनवे को करीब 610 मीटर तक बढ़ाया जाएगा। जिसके चलते गगल के निकट सराह रोड की ओर इसे लाया जाएगा, लेकिन गगल बाजार की ओर नहीं बढ़ेगा। प्रशासन एक सप्ताह के भीतर कागजात तैयार कर सरकार का रिपोर्ट भेजेगा। अब प्रशासन खसरा नंबर वाइज भूमि संबंधी रिपोर्ट तैयार कर रहा है।  इसके अलावा फोरलेन का शिलान्यास करवाने से इसे आगे बढ़ाने के लिए भी बड़े स्तर पर काम चल रहा है। वहीं, मटौर-शिमला मार्ग के लिए भी फायरिंग रेंज के निकट आ रही बड़ी समस्या का समाधान निकालते हुए वैकल्पिक  व्यवस्था कर ली है। कांगड़ा में एयरपोर्ट और फोरलेन दोनों प्रमुख परियोजनाओं को पंख लगने से यहां पर्यटन उद्योग का बड़े स्तर पर विस्तार होगा। ऐसे में इन्वेस्टर मीट में आने वाली कंपनियों को भी जब सुविधाएं मिलेंगी, तो वे भी यहां निवेश करने में रुचि दिखाएंगी। उधर, उपायुक्त संदीप कुमार का कहना है कि कांगड़ा एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के लिए भूमि को अधीन लेने के लिए खसरा नंबर वाइज डिटेल तैयार की जा रही है। इस दिशा में प्रशासन पूर्व योजना के आधार पर काम कर रहा है। सरकार फोरलेन सहित अन्य सभी प्रमुख योजनाओं पर गंभीर है और प्रशासन उन्हें धरातल पर उतारने के लिए कार्य कर रहा है।

You might also like