बिलासपुर में @ 400

बिलासपुर—जिला में गर्मी के तेवर बरकरार हैं। पारे में आए जबरदस्त उछाल ने गर्मी के तेवर में और भी गरमाहट ला दी है। सूरज की तपिश में और भी चमक महसूस होने लगी है। तपिश के साथ उमस पसीने छुड़ा रही है। रविवार को गर्म हवाओं के थपेड़ों से बिलासपुर झुलस उठा। बीते तीन दिनों से पारा 40 डिग्री पर टिका है। सूरज लगातार आग उगल रहा है। रविवार को भी पारा 39.5 डिग्री रहा। इससे लोगों को दिनभर गर्मी और उमस से परेशान होना पड़ा। शहर से लेकर ग्रामीण अंचलों तक सभी को सूर्य की तपिश ने प्रभावित किया। दोपहर तक गर्मी चर्म पर रही और गर्म हवाएं भी चलीं। दोपहर की चिलचिलाती धूप में निकलना मुश्किल हो रहा है। 12 से तीन बजे के बीच तो ऐसा लगता है कि मानो आसमान से आग बरस रही हो। गर्म हवाएं तन को झुलसना शुरू कर देती हैं। देर शाम तक हवा अपने साथ गरमाहट लेकर चल रही है। भीषण गर्मी में कूलर-पंखों ने भी जवाब दे दिया है। सुबह आठ बजे के बाद से ही धूप तेज धूप और फिर लू शुरू हो जाती है। लोग अपने घरों से निकलने में कतरा रहे हैं। जरूरी काम होने पर ही बाहर निकल रहे है। दोपहर में तो सड़कों पर लगभग सन्नाटा ही पसरा नजर आ रहा है। शहर में लोग शाम पांच बजे के बाद ही घरों से निकलकर अपने काम निपटाना बेहतर समझ रहे हंै। ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यातादर दुकानदार भी अब दोपहर में दुकानें नहीं खोल रहे हैं। दरअसल, लोग सुबह या शाम को खरीददारी करने निकल रहे हैं। बढ़ती तपिश ने बाजारों की रौनक भी छीन ली है। दिन में चहल-पहल गायब है। बहरहाल बिलासपुर जिला गर्मी के चलते उबल पड़ा है। चिलचिलाती धूप से जनता रविवार के दिन खूब परेशान हुई। बसों मंे बैठी सवारियां जहां पसीना-पसीना हो गईं। चिलचिलाती धूप मंे चलना लोगों के लिए परेशानी से कम साबित नहीं हुआ। धूप इतनी तेज हो रही है कि जैसे आंखांे को चुभो रही हो। वहीं, महिलाएं व लड़कियां इस धूप से बचने के लिए सिर पर चुनरी ओढ़ती देखी गईं।

You might also like