बूथ पर सीनियर छात्र ही होंगे तैनात

हमीरपुर-लोकसभा चुनावों में छात्र इस बार अपने स्कूल के बूथ केंद्रों पर ही ड्यूटियां देंगे। छात्रों की नजदीक के दूसरे स्कूलों में डयूटियां नहीं लगाई जाएंगी। स्कूल के हर बूथ केंद्र पर दो छात्र तैनात रहेंगे। छात्रों से स्कूल टाइम में ही बूथ केंद्रों पर कार्य लिया जाएगा। बता दें कि आने वाली 19 मई को लोकसभा के चुनाव होने जा रहे हैं। इसके लिए जिला के सभी राजकीय उच्च पाठशालाओं व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं के दो-दो छात्रों की ड्यूटियां स्कूल के ही बूथ केंद्रों पर लगाई गई हैं। इस बार कोई भी छात्र दूसरे स्कूलों के बूथ केंद्रों पर ड्यूटियां नहीं देंगे। छात्र बूथ केंद्रों पर स्कूल टाइम में ही अपनी सेवाएं देंगे या फिर स्कूल टाइम से एक घंटा ज्यादा सेवाएं दे सकते हैं। बताया जा रहा है कि चुनावों में इस बार छोटे छात्रों की डयूटियां नहीं लगाई गई हैं और न ही छात्रों को दूसरे बूथ केंद्रों पर भेजा जाएगा। क्योंकि दूसरे बूथ केंद्रों पर भेजने से छात्रों की सुरक्षा पर भी कई बार सवाल उठे हैं। लोकसभा चुनावों में इस बार बड़े छात्रों की ही डयूटियां लगाई गई हैं। छात्र बूथ केंद्रांे में लोगों की हेल्प के लिए तैनात रहेंगे, ताकि किसी भी मतदाता को किसी भी तरह की मदद की जरूरत हो, तो वह उनके काम आ सकें। हमीरपुर जिला में इस बार मतदान प्रतिशतता बढ़ाने के भ्रसक प्रयास किए जा रहे हैं, ताकि लोगों को ज्यादा सं या में बूथ केंद्रों तक पहुंचाया जा सके। इसके लिए पहली बार ग्रामीण क्षेत्रों में चुनावी पाठशालाओं का भी आयोजन किया गया। लोगों को जागरूक किया गया है कि अगर वह किसी भी पार्टी को वोट नहीं करना चाहते हैं, तो वह बूथ केंद्र पर पहुंच कर नोटा का बटन दवाकर मतदान प्रतिशत बढ़ाने में अपना योगदान दे सकते हैं। उच्चतर शिक्षा विभाग हमीरपुर के उपनिदेशक जसवंत सिंह ने खबर की पुष्टि की है।

You might also like