बेहतर प्रदर्शन पर कार्यकर्ता होंगे सम्मानित

कांग्रेस-भाजपा में बेहतर काम करने वाले पदाधिकारियों को मिलेगा लाभ

कुल्लू -लोकसभा चुनाव के लिए रिकार्ड मतदान के बाद अब सब की नजरें गुरुवार पर टिक गई हैं। मतगणना को लेकर 544 पोलिंग वूथ की ईवीएम मशीनों की भी सुरक्षा यहां स्टांग रूम में हो रही है। वहीं, अब मात्र एक दिन बचे परिणाम घोषित होने के चलते बुधवार को मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर सहित भाजपा के कई दिग्गज नेता भी अपने कार्यकर्ताओं के साथ दिनभर व्यस्थ रहते हुए परिणाम को लेकर चर्चा करते रहे। साथ ही पिछले दो दिनों से नेताओं सहित कार्यकर्ताओं की टीवी व अखबारों पर टक-टकी लगाएं बैठे है कि आखिर एग्जिट पोल क्या बोल रहे है। साथ ही मोबाइल फोन के सहारे भी नेता पल-पल की रिपोर्ट ले रहे है। दूसरी और नेताओं के साथ-साथ दोनों ही दलों के नेताओं की भी धुकधुकी बढ़ गई है। गुरुवार को लोकसभा चुनाव के घोषित होने वाले परिणाम के  चलते बुधवार को मतगणना को लेकर लोगों में भी उत्साह देखने को मिल रहा है। दिनभर लोग चर्चा में रहे कि क्या गुरुवार को घोषित होने वाले परिणाम इस बार एग्जिट पोल पर खरा उतर पाएंगे या नहीं। वहीं, आज निकले वाले परिणाम को भाजपा सहित कांग्रेस के भी कार्यकर्ताओं ने भी जश्न को लेकर पूरी तैयारी कर ली है। बताया जा रहा है कि जिस भी दल का प्रत्याशी जीत हासिल करेगा। उस दल के और से जीत की खुशी में कुल्लवी धाम परोसी जाएगी। वहीं, जीत के जश्न को लेकर भले ही यहां दोनों दल के नेता तैयार हो चुके है। लेकिन दूसरी और संगठन के पदाधिकारी भी अपने नेताओं पर पैनी नजर रखे हुए हैं। गुरुवार को परिणाम आने के बाद उन नेताओं के बूथों पर भी नजर रहेगी कि उनके बूथ से प्रत्याशी को कितने की लीड प्राप्त हो पाई है। जिस भी नेता के बूथ से अपने प्रत्याशी को लीड दिलाने में कमी रही है। उस नेता पर संगठन की और ले जहां गाज गिरना तय है, वहीं जो नेता व कार्यकर्ता अपने बूछ से बेहतर लीड अपने प्रत्याशी को दिलाने में आगे रहेगा, उसे संगठन की और से सम्मान भी मिलेगा। गौर रहे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी यहां चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि नेताओं सहित विधायकों को भी रिपोर्ट ली जाएगी कि किस ने कितनी जीत दिलाने में मेहनत की है। वहीं, मंत्रिमंडल में भी इस बार फेरबदल के पूरे आसार है। साथ ही नए नेता भी मंत्रिमंडल में जगह मिलना तय है। बता दें कि मतदान के परिणाम के बाद भाजपा व कांग्रेस दोनों ही दल फेरबदल जरूर करेंगे। जहां पर संगठन में कुछ नए लोगों को जिम्मेदारी भी सौंपी जाएगी। ऐसे में गुरुवार को घोषित होने वाले परिणाम को लेकर अब दोनों की दलों के नेताओं की धुकधुकी बढ़ गई है, जिसकी रफ्तार गुरुवार को शाम तक ही कम होगी।

 

You might also like