बैंकिंग में तरलता को 15 हजार करोड़ डालेगा आरबीआई

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ने कहा है कि वह बैंकिंग सेक्टर में तरलता लाने के लिए अगले महीने 15000 करोड़ रुपए की नकदी पहुंचाएगा। यह नकदी सरकारी बांड की खरीदारी के जरिए बैंकों तक पहुंचाई जाएगी। जानकारी के अनुसार, सरकारी बांड की यह खरीददारी खुले बाजार के अभियान (ओएमओ) के तहत की जाएगी। केंद्रीय बैंक ने बयान में कहा है कि बैंकिंग प्रणाली में तरलता (ऋण देने के लिए उपलब्ध धन) की मौजूदा स्थिति को देखते हुए यह निर्णय किया गया है। आरबीआई ने कहा है कि नकदी की मौजूदा स्थिति की समीक्षा और उसकी प्रर्याप्त उपलब्धता के आकलन के बाद आरबीआई ने 13 जून, 2019 को ओएमओ के तहत 150 अरब रुपए के लिए सरकारी प्रतिभूतियों की खरीद करने का फैसला किया है।

You might also like