बॉलीवुड हस्तियों के लिए चुनाव का स्वाद रहा खट्टा-मीठा

 

बॉलीवुड हस्तियों के लिए चुनाव का स्वाद रहा खट्टा-मीठा

न“ किसी के हिस्से में प्यास आयी, किसी के हिस्से में जाम आया” । एक पुरानी फिल्म के गीत की पंक्ति 2019 के लोकसभा चुनाव में किस्मत आजमाने वाले बॉलीवुड हस्तियों के लिए सटीक बैठती है जिनमें किसी को जीत मिली है तो किसी को हार।
बॉलीवुड की दुनिया से राजनीति के पायदान में कदम रखने वाले पंजाबी पुत्तर सनी देओल पहली बार भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) उम्मीदवार के रूप में पंजाब के गुरदासपुर लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतरे और कांग्रेस के सुनील जाखड़ को 77 हजार से अधिक मतों से पराजित का पहली जीत का स्वाद चखा।पहली बार राजनीति के मैदान में उतरने वाली उर्मिला मातोंडकर ने कांग्रेस के टिकट पर मुंबई उत्तर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा लेकिन यहां किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और उन्हें भाजपा उम्मीदवार गोपाल शेट्टी के हाथों करीब चार लाख 65 हजार से मतों से शिकस्त मिली।‘शॉटगन’ के नाम से मशहूर अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा यूं तो दो बार सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं लेकिन भाजपा में बगावती तेवर के कारण पार्टी ने इस बार उन्हें उनकी परंपरागत सीट पटना साहिब से टिकट नहीं दिया। बाद में उन्होंने भाजपा का साथ छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया और कांग्रेस ने उन्हें पटना साहिब से उम्मीदवार बनाया लेकिन यहां उनका भाजपा के धुरंधर नेता केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से मुकाबला रहा और जीत के मुगालते में रहने के बावजूद वह दो लाख से अधिक वोटों से चुनाव हार गये।
श्री सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा भी पहली बार चुनाव मैदान में उतरने वालों में शामिल रही और उन्होंने समाजवादी पार्टी का ध्वज हाथ में लिया और लखनऊ सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा । यहां भाजपा की ओर से कद्दावर नेता केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने श्रीमती सिन्हा को 3,85,302 मतों से शिकस्त दी।टेलीविजन की सेलिब्रिटी रही स्मृति ईरानी ने इस बार अपनी क्षमता का जबरदस्त प्रदर्शन किया। केंद्रीय मंत्री का पदभार संभाल रही श्रीमती ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ उनकी पार्टी के गढ़ अमेठी से फिर चुनाव लड़ा। इस बार भी दोनोंप्रतिद्वंद्वी आमने-सामने थे लेकिन बाजी श्रीमती ईरानी के हाथ लगी और उन्होंने श्री गांधी को परास्त किया।तीन बार सांसद रहे उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर इस दफा फतेहपुर सीकरी से चुनाव मैदान में थे। उन्हें भाजपा के राजकुमार चाहर ने करीब 4,94,000 वोटों से हराया।

 

You might also like