भगवा सुनामी में सब साफ

पालमपुर—संगठनात्मक जिला पालमपुर की चारों सीटों पर वोटरों ने भाजपा पर जमकर वोटों की बारिश की है। पालमपुर, बैजनाथ, सुलाह और जयसिंहपुर से भाजपा उम्मीदवार किशन कपूर को 2014 के मुकाबले दोगुना लीड मिली है। 2014 के लोकसभा चुनावों में इन चार विधानसभा क्षेत्रों से शांता कुमार को करीब 40 हजार मतों की लीड मिली थी, जबकि इस बार किशन कपूर को करीब 90 हजार वोट ज्यादा मिले हैं।  संगठनात्मक जिला पालमपुर में कांग्रेस चारों खाने चित हो गई है और विधानसभा में जीती पालमपुर सीट से भी कांग्रेस के उम्मीदवार को बढ़त नहीं मिल पाई है। इतना ही नहीं मतदाताओं ने भाजपा का खुलकर साथ दिया और सुलाह, बैजनाथ व जयसिंहपुर में विधानसभा चुनावों से भी ज्यादा मतों की बढ़त भाजपा उम्मीदवार की झोली में डाल दी। 2014 के लोकसभा चुनाव में शांता कुमार को पालमपुर से 11426 मतों की लीड मिली थी, जबकि 2017 के विस चुनावों में भाजपा उम्मीदवार 4324 वोटों से हार गई थी। इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी को पालमपुर से 19 हजार वोटों की बढ़त मिली है।  2014 के लोकसभा चुनावों में सुलाह से भाजपा को 12498 तो 2017 के विस चुनावों में 10291 वोटों की बढ़त मिली थी, जो अब बढ़कर 30 हजार तक जा पहुंची है। बैजनाथ से भाजपा उम्मीदवार को 2014 के लोकसभा चुनावों में 14052 तो बीते विस चुनावों में 12669 वोटों की लीड मिली थी, जो इस बार बीस हजार से पार हो गई है। जयसिंहपुर विधानसभा क्षेत्र से 2014 के लोकसभा चुनावों में मिली 6365 और 2017 के विस चुनावों में 10615 वोटों की लीड का ग्राफ बढ़कर 17 हजार तक जा पहुंचा है।

 

You might also like