भाजपा को खुली चुनौती,दम है तो विकास पर कहीं भी कर लें बहस

पालमपुर—भाजपा नेताओं द्वारा लगातार बलि का बकरा कहे जाने से कांग्रेस  प्रत्याशी पवन काजल आहत दिखे। काजल ने कहा है कि वह मध्यम वर्ग, गरीब, किसान, कर्मचारी और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं। वह एक साधारण से किसान परिवार से आते हैं। यही कारण है कि आए दिन भाजपा नेता उन्हें नई गाली दे रहे हैं। भाजपा नेता उनकी तुलना बकरे से करके दिखा रहे हैं ।  कांगड़ा-चंबा हलके के लोकसभा कांग्रेस प्रत्याशी पवन काजल मंगलवार को पालमपुर विधानसभा हलके की डाढ़, लटवाल, चिंबलहार, बंदला,  बोधल,  पाहड़ा लमलेहड़, बनूरी व  बल्लाह पंचायतों में चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान लोगों से मिलकर काजल कई बार भावुक हो गए। काजल ने इस चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि मेरी स्टार प्रचारक जनता ही है, जो सब कुछ जानती है।  उन्होंने भाजपा से जानना चाहा है कि क्या किसान होना गुनाह है। क्या बेरोजगारों की बात करना गलत है। क्या कर्मचारियों के हक की बात करना गलत है।  कांग्रेस पार्टी सरकार बनने के बाद पात्र परिवारों को सालाना 72 हजार रुपए देगी। यह रकम सीधे महिलाओं के खाते में जाएगी। उन्होंने कहा कि सुशासन, सड़क, बिजली और पानी जैसे मसलों पर भाजपा एक शब्द नहीं बोलती। भाजपा ने फोरलेन के काम में रोड़ा अटकाया हुआ है। उन्होंने कहा कि वह साधारण किसान परिवार से हैं। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी को  चुनौती दी कि वह विकास के नाम पर उनसे बहस कर ले। इन सभाओं  में  पूर्व विधानसभा अध्यक्ष बृज बिहारी लाल बुटेल व पालमपुर के विधायक आशीष  बुटेल ने भी  भाजपा को निशाने पर लिया।

You might also like