भाजपा वर्कर की हत्या, स्मृति ने दिया अर्थी को कंधा

अमेठी की सांसद के करीबी थे सुरेंद्र सिंह, ईरानी की जीत में निभाई थी बेहद अहम भूमिका

अमेठी -अमेठी में नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी के सहयोगी सुरेंद्र प्रताप सिंह की शनिवार रात हत्या से हड़कंप मच गया है। रविवार दोपहर नई दिल्ली से अमेठी शोक संतप्त परिवार से मुलाकात करने पहुंचीं स्मृति ईरानी ने सुरेंद्र के हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़वाने का आश्वासन दिया। भावुक स्मृति ईरानी सुरेंद्र सिंह की शवयात्रा के दौरान उनके शव को कंधा देती भी दिखीं। सुरेंद्र सिंह की शवयात्रा के दौरान प्रदेश सरकार के मंत्री और विधायक भी मौजूद रहे। सुरेंद्र के परिवार ने हत्या के पीछे सियासी रंजिश को वजह बताया है। रविवार सुबह सुरेंद्र के बेटे अभय ने आरोप लगाया कि स्मृति ईरानी की जीत को लेकर हम लोग जश्न भी मना रहे थे, जो कई कांग्रेस समर्थकों को अच्छा नहीं लगा। कहीं न कहीं राजनीतिक रंजिश के चलते पिता की हत्या की गई। हम स्मृति ईरानी से अपील करते हैं कि पिता के हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर सजा दिलाएं। बता दें कि शनिवार देर रात कुछ अज्ञात हमलावरों ने सुरेंद्र सिंह की घर में घुसकर हत्या कर दी थी। हत्या के वक्त सुरेंद्र सिंह घर के बरामदे में सो रहे थे, तभी उन पर गोलियों से हमला हुआ। सुरेंद्र सिंह बरौलिया के प्रधान रह चुके हैं। बरौलिया वही गांव है, जिसे राज्यसभा सांसद रहते तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने गोद लिया था। सुरेंद्र सिंह ने 2019 लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी के चुनाव प्रचार में काफी महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा की थी। उनको करीब से जानने वाले लोगों के मुताबिक कई गांवों में उनका खासा प्रभाव था, जिसका फायदा इस चुनाव में स्मृति ईरानी को मिला। कांग्रेस के गढ़ अमेठी में कमल खिलाने का श्रेय काफी हद तक सुरेंद्र सिंह को भी जाता है।

You might also like