मंडी में गरजे प्रधानमंत्री, ऊना में बरसे राहुल गांधी

मोदी बोले, भाजपा सरकार ने दिया सैनिकों का हक

मंडी – पांच वर्ष बाद एक बार फिर लोकसभा चुनावों के बहाने मंडी के पड्डल मैदान में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को आतंकवाद व सेना के मुद्दे पर कांग्रेस को कोसने में कसर नहीं छोड़ी। वीर सैनिकों वाले हिमाचल प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण के 17 मिनट सेना के सम्मान, सैनिक परिवारों की भावनाओं और वन रैंक-वन पेंशन पर केंद्रित रखे। हिमाचल में भ्रष्टाचार और परिवारवाद पर कांग्रेस को घेरने से भी मोदी नहीं चूके। पहाड़ी बोली में अपने भाषण की शुरुआत करने के बाद सेपू बड़ी का जिक्र व बिजली महादेव को नमन कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर मंडी संसदीय क्षेत्र से अपनेपन का इजहार भी किया। पड्डल मैदान के मंच से अपने 29 मिनट के भाषण में नरेंद्र मोदी ने सिख दंगों का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस को किसी की जरा भी परवाह नहीं है और उसका अहंकार सातवें आसमान पर पहुंच चुका है। ऐसे लोगों को जितनी सजा दी जाए, उतनी कम है। वंशवाद और भ्रष्टाचार को कांग्रेस ने राष्ट्रीय राजनीति का हिस्सा बनाया है और उसकी जडें़ हिमाचल में भी मजबूत की हैं, लेकिन 21 वीं सदी का युवा हिमाचल को ऐसे कुछ परिवारों के गिरोह से मुक्ति दिलाकर रहेगा। नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूरा विश्व भारत की शक्ति की तारीफ कर रहा है, लेकिन कांग्रेस के लोगों को यह पच नहीं रहा। कांग्रेस को देश के वीर सपूतों पर भरोसा नहीं है। 2016 में देश के सपूतों ने सर्जिकल स्ट्राइक की तो कांग्रेस के नामदार ने पाकिस्तान को गाली देने की बजाए मुझे गाली देनी शुरू कर दी। कांग्रेस और उसके महामिलावटी साथी देश को तोड़ने की राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने लोगों से सवाल करते हुए कहा कि जो भारत के टुकड़े करने और जवानों को लाचार करने की साजिश रचते हैं, क्या उनकी जमानत जब्त होनी चाहिए कि नहीं होनी चाहिए। उन्हें सजा होनी चाहिए कि नहीं होनी चाहिए। हिमाचल वीर भूमि है और यहां की माताएं ऐसे सपूतों को जन्म देती हैं, जो देश के लिए जीते और मरते हैं, लेकिन कर्नाटक से कांग्रेस के मुख्यमंत्री कहते हैं कि सेना में वही जाता है, जिसके पास खाने के लिए रोटी नहीं होती। क्या हिमाचल की माताएं अपने सपूतों को इसलिए सेना में भेजती हैं। यह हिमाचल की वीर माताओं को अपमान है, लेकिन कांग्रेस में सेना के खिलाफ बोलने वाले ऐसे लोगों को ही सीएम बनाया जाता है। यह कांग्रेस की सोच है। वन रैंक-वन पेंशन का मामला कांग्रेस ने लटकाया और मात्र 500 करोड़ का 2014 के अंतरिम बजट में प्रावधान रखा था, जो भद्दा मजाक था, लेकिन हमारी सरकार आई तो हमने 35000 करोड़ का प्रावधान रखा और यह लाभ सेना को दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2014 में भी हिमाचल प्रदेश ने चारों सीटें भाजपा को दीं और 2017 में भी भाजपा की जीत हुई। अब हिमाचल की हैट्रिक लगाने की बारी है। चारों सीटें इस बार भी भाजपा की झोली में आएंगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेमकुमार धूमल, पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार, भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती, भाजपा प्रत्याशी राम स्वरूप शर्मा, कांगड़ा से प्रत्याशी किशन कपूर, चुनाव प्रभारी तीरथ सिंह रावत, आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

मंडयाली में मांगा आशीर्वाद  :  मंडयाली में भाषण की शुरुआत करके प्रधानमंत्री ने जनता से आशीर्वाद मांग कर सबको हैरानी में डाल दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हाऊं एक बारी भी कने बडे़ काशी ते तुंसा सभी रां ओर छोटी काशी से सभी देव-देवियां दा आशीर्वाद लैंदा आईरा। उनके मुख से मंडयाली सुनते लोग खडे़ हो गए और पंडाल मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा।

प्रधानमंत्री पर कांग्रेस अध्यक्ष का हमला, मोदी जी न अपने कोच की सुन रहे, न टीम की

ऊना – मोदी जी न तो अपने कोच (आडवाणी) की सुन रहे हैं, न ही अपनी टीम (गडकरी, जेतली, सुषमा) की। जनता की आवाज को भी मोदी जी ने नजरअंदाज कर दिया। अब मोदी कांग्रेस के पाले में फंस गए हैं, यह बात हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के तहत ऊना जिला में पुलिस मैदान में कांग्रेस प्रत्याशी रामलाल ठाकुर के पक्ष में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कही। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी ने जनता की राय के बिना रातों-रात नोटबंदी लागू कर व गब्बर सिंह टैक्स लगाकर देश की आर्थिक व्यवस्था को तहस-नहस कर दिया। देश में बेरोजगारी की दर 45 सालों में सबसे ज्यादा बढ़ गई। नोटबंदी से लोगों का रोजगार छिन गया, कारोबार खत्म हो गया। मोदीजी ने 15 लोगों के अरबों रुपए के ऋण माफ कर दिए, जबकि कांग्रेस देश के 25 करोड़ गरीब लोगों को साल में 72-72 हजार रुपए देकर लाभान्वित करेगी। देश की पांच करोड़ महिलाओं के खाते में यह राशि जाएगी। राहुल गांधी ने कहा कि जो पहले अच्छे दिन आएंगे का नारा लगाते थे, अब चौकीदार चोर है का नारा लगा रहे है, क्योंकि लोग मोदी जी की सच्चाई जान चुके हैं। राफेल मामले में मोदी जी ने अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपए का लाभ पहुंचाया। मोदी जी इस मसले पर बहस से कतरा रहे है। फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा था कि हिंदोस्तान का प्रधानमंत्री कह रहा है कि यदि विश्व का सबसे बड़ा रक्षा सौदा करना है तो राफेल को भारत में नहीं बनाना, एचएएल से करार नहीं करना व अनिल अंबानी की पैरवी की।  डिफेंस के अधिकारियों ने फाइल में लिखा कि इस मामले में मोदी पैरेलल नेगोसिएशन कर रहे थे। राहुल गांधी ने कहा कि हमने जनता की आवाज सुनकर फैसले किए हैं। देश के गरीबों को साल में 72 हजार रुपए देने का निर्णय बिना सोचे-समझे नहीं, बल्कि आर्थिक विशेषज्ञों की छह माह की पूरी स्टडी व राय के बाद लिया है। इससे देश की आर्थिकी सुधरेगी व गरीब के जीवन स्तर में सुधार होगा। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी ने दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार का झूठा वादा किया था। कांग्रेस सत्ता में आते ही 22 लाख पद सरकारी क्षेत्र के भरेगी, जबकि पंचायतों में 10 लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। छोटे व्यापारी व कारोबारी को तीन साल तक सरकारी विभाग से परमिशन से छूट दी जाएगी।

मोदी ने हिमाचल को नहीं दिए 65000 करोड़ : राहुल गांधी ने कहा कि मोदीजी ने हिमाचल में 65 हजार करोड़ रुपए एनएच व आधारभूत ढांचे के विकास के लिए देने की बात कही थी,लेकिन एक पैसा नहीं आया। उन्होंने झूठे वादे किए, बुजुर्गों का अपमान किया, लेकिन अब हिमाचल की जनता मोदी को हराने जा रही है तथा प्रदेश की चारों सीटें कांग्रेस को जिताएगी।

You might also like