मकलोडगंज में भिखारियों की दादागिरी

मकलोडगंज—विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी मकलोडगंज मंे पर्यटन सीजन शुरू होते ही भिखारियों की तादाद में भारी इजाफा हो गया है। भिखारियों में बच्चों से लेकर युवतियां व बुजुर्ग भी शामिल हैं। देश-विदेश से पर्यटन नगरी मकलोडगंज पहुंचने वाले पर्यटकों को भिखारी बहुत परेशान कर रहे हैं। लगभग सभी भिखारी बाहरी राज्यों से संबंध रखने वाले हैं।  इन दिनों भिखारी सबसे अधिक परेशान विदेशी मेहमानों को कर रहे हैं।  भिखारियों को पर्यटकों द्वारा बार-बार मनाही करने पर भी यह लोग नहीं मानते हैं और परेशान होकर किसी एक भिखारी को पैसे दे दिए जाएं, तो उनके पीछे सभी भिखारी पैसें मांगने पड़ जाते हैं। इसके  कारण कई बार पर्यटकों को इधर -उधर दुकानों व रेस्तरां मंे जाना पड़ता हैं।  वर्तमान स्थिति में इन भिखारियों से निपटने के लिए क्षेत्र का स्थानीय व्यापार मंडल भी प्रयासरत है, लेकिन इस मामले पर ढ़ील बरतते हुए पुलिस प्रशासन की कार्रवाई भी नाममात्र है। पयर्टक नगरी में हर जगह पर फैले इन भिखारियों की हेंकड़ी इस कदर बाहरी पयर्टकों पर हावी हो गई हैं कि फराटेदार अंग्रजी बोलने वाले इन भिखारियों की चिकनी चुपड़ी बातों में आकर विदेशी पर्यटक बेखूबी ठगे जाते हैं। इन भिखारियों से निपटने के लिए जिला पुलिस ने कुछ समय पहले महिला पुलिस की तैनाती यंहा की थी, लेकिन पुलिस की कार्रवाई से बेखौफ भिखारियों की दादागिरी मकलोडगंज मे आए दिनों बढ़ती जा रही हैं। व्यापार मंडल मकलोडगंज के अध्यक्ष नरिंद्र पठानिया ने बताया है कि पिछले काफी समय से प्रवासी भिखारी बाहरी पयर्टकों से खींचातानी करके उन्हें तंग करते हैं। इससे पूर्व इन भिखारियों से निपटने हेतु महिला पुलिस की यहां तैनाती थी, लेकिन अब पुलिस से बेखौफ इन प्रवासी भिखारियों से बाहरी पयर्टक खुद को असुरक्षित महसूस करते हैं।

You might also like