मतगणना में टकराव की आशंका

चंडीगढ़ – हरियाणा को लोकसभा चुनावों के मतदान शांतिपूर्ण निपट जाने के बाद अब मतगणना के दौरान शांति बनाए रखना बड़ी चुनौती है। चुनाव नतीजों से पहले ही जिस तरह एक्जिट पोल को आधार बनाते हुए सियासी दलों ने ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) पर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं, उससे टकराव के आसार बन रहे हैं। इसके मद्देनजर हरियाणा पुलिस ने सात संवेदनशील जिलों रोहतक, सोनीपत, झज्जर, भिवानी, सिरसा, हिसार और फतेहाबाद में केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की छह अतिरिक्त कंपनियां लगाते हुए गृह मंत्रालय से 20 कंपनियां और मांगी हैं।

सुबह आठ बजे से शुरू होगी वोटों की गिनती

गुरुवार को सुबह ठीक आठ बजे 39 स्थानों पर मतगणना शुरू होगी जहां 90 स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। सभी मतगणना केंद्रों की 500 मीटर की परिधि में धारा-144 लागू रहेगी। स्ट्रांग रूम के बाहर थ्री-टायर सुरक्षा व्यवस्था की गई है। स्ट्रांग रूम के बाहर सबसे पहले केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के जवान और फिर दूसरी लेयर में हरियाणा सशस्त्र पुलिस के जवान लगाए गए हैं। तीसरे सुरक्षा घेरे की कमान जिला पुलिस के कर्मचारियों को सौंपी गई है। सुरक्षा बलों की सात कंपनियों को नियंत्रण कक्षों के बाहर तैनात किया गया है। सीसीटीवी कैमरों की मदद से पूरे स्ट्रांग रूम की निगरानी की जा रही है।

केंद्रों के 500 मीटर की परिधि में धारा-144 लागू

मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने बताया कि चुनावी ड्यूटी पर लगे कर्मचारियों के लिए शुरू इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटिड पोस्ट बैलेट सिस्टम (ईटीबीपीएस) की गणना हरियाणा में पहली बार की जाएगी। चुनाव परिणामों के प्रति लोगों की उत्सुकता को देखते हुए सबसे पहले वोटर हेल्पलाइन मोबाइल ऐप पर मतगणना के सटीक परिणाम डाले जाएंगे जो घर बैठे आसानी से देखे जा सकेंगे। संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डा. इंद्रजीत ने बताया कि रिटर्निंग अधिकारी तीन बार स्ट्रांग रूम का दौरा करेंगे।

You might also like