ममता कर रही है चक्रवाती तूफान पर राजनीति: मोदी

 

ममता कर रही है चक्रवाती तूफान पर राजनीति: मोदी

 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को आराेप लगाया कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चक्रवाती तूफान “फोनी” पर राजनीति कर रही हैं। श्री मोदी ने कहा “स्पीडब्रेकर दीदी’ (ममता बनर्जी) फोनी चक्रवाती तूफान पर राजनीति करने की कोशिश कर रही है। मैंने चक्रवाती तूफान के संबंध में “ममता दीदी” से दो बार बात करने की कोशिश की लेकिन उनमें इतनी अकड़ है कि उन्होंने मुझसे बात करने से इन्कार कर दिया, मैंने फिर से प्रयास किया लेकिन उन्होंने फोन पर बात करने से इन्कार कर दिया।”प्रधानमंत्री ने राज्य के पूर्व मेदिनीपुर जिले में यहां एक सार्वजनिक जनसभा को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि सुश्री बनर्जी बंगाल के लोगों के लिए बहुत कम चिंतित है।श्री मोदी ने कहा “दीदी की इस राजनीति के बावजूद मैं राज्य की जनता को फिर से विश्वास दिलाता हूं कि केंद्र सरकार पूरी ताकत के साथ राज्य के लोगों के साथ खड़ी है और राज्य सरकार को हर तरह से अपना समर्थन दे रही है।”प्रधानमंत्री ने कहा “इस मुश्किल के समय में हम राज्य के लोगों के साथ खड़े है और मेरी उन लोगों के साथ सहानुभूति है जिन्होंने इस चक्रवाती तूफान में अपने निकटतम लोगों को खोया है।”प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत उन लोगों के बारे में बात करते हुए की जो चक्रवात फाेनी से प्रभावित हैं। उन्होंने कहा “ममता दीदी इन दिनों इतनी निराश हैं कि वह भगवान के बारे में बात करना या सुनना भी नहीं चाहती हैं और स्थिति यह है कि दीदी उन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज रही हैं जो जय श्री राम जप रहे हैं।”उन्होंने कहा “पश्चिम बंगाल में तृणमूल तोलाबाजी कर का भुगतान करना पड़ता है। कोई भी इस कर को बदलने की हिम्मत नहीं कर रहा है और इस कर को केवल तृणमूल ने ही प्रोत्साहित किया है। लेकिन अब बंगाल में यह ज्यादा दिन नहीं चलेगा। प्रधानमंत्री ने कहा, “हाल ही में पाकिस्तान प्रायोजित मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र ने वैश्विक आतंकवादी घोषित किया था। जो भारत के लिए आतंकवाद के खिलाफ बहुत बड़ी जीत है। हालांकि यह देश के लिए गर्व की बात है, लेकिन दीदी इस पर टिप्पणी करने में असफल रही।”उन्होंने कहा आपने वंशवाद, वामपंथी और लोगों को दबाने वाली सरकार को मौका दिया है। अब एक ऐसी पार्टी को मौका दीजिए जो विकास के लिए अपनी प्रतिबद्धता जाहिर करती है।

 

You might also like