मलबे में दफन पोकलेन आपरेटर का सुराग नहीं

चंबा—चंबा- खजियार मार्ग पर मंगला गांव के पास भू-स्ख्लन की जद में आकर मलबे में जिंदा दफन पोकलेन मशीन आपरेटर का गुरुवार को भी कोई सुराग नहीं लग पाया। लोक निर्माण विभाग के एक्सईएन जीत सिंह ठाकुर व राजस्व विभाग के नायब तहसीलदार और एनडीआरएफ टीम की मौजूदगी में मशीनों के सहयोग से ठेकेदार व विभागीय लेबर ने बारिश के बीच मलबे को हटाकर आपरेटर की तलाश को लेकर सर्च आपरेशन दिन भर जारी रहा। इस दौरान मलबे में जिंदा दफन आपरेटर के परिजन भी मौके पर मौजूद रहे। उधर, गरुवार को दूसरे दिन भी खजियार मार्ग वाहनों की आवाजाही के लिए नहीं खुल पाया है, जिस कारण जोत की ओर से जाने वाली सरकारी व निजी बसों को वाया बनीखेत ही भेजा जा रहा है। मार्ग बंद होने से मंगला सहित आसपास की दर्जनों पंचायतों के लोगांे व छात्रों को कई किलोमीटर का पैदल फासला तय करके मुख्यालय पहंुचना पड़ रहा है।  गुरुवार सवेरे बारिश के बावजूद लोक निर्माण विभाग के एक्सईन की अगुवाई में दोबारा से मलबे में दफन रवि कुमार की तलाश को अभियान छेड़ा गया। राहत व बचाव कार्य के दौरान फिर से पहाडी से पत्थर गिरने से एक पोकलेन मशीन क्षतिग्रस्त हो गई। गुरुवार देर शाम तक मलबे में दफन रवि कुमार का कोई पता नहीं चल पाया है।  चंबा मंडल के एक्सईएन जीत सिंंह ठाकुर ने कहा कि मलबे में दफन आपरेटर रवि कुमार की तलाश लगातार जारी है। गुरुवार को भी दिन भर मार्ग से मलबा हटाकर रवि कुमार का सुराग लगाने का प्रयास किया गया, लेकिन अभी तक कोई सफलता नहीं मिल पाई है। 

You might also like