महफूज होगा अब हर पुल

सुजानपुर—उपायुक्त कांगड़ा के सराहनीय प्रयासों से सुजानपुर ब्यास पुल के ऊपर लोहे की रेलिंग लगाने का काम शुरू हो गया है। रेलिंग के लग जाने से पुल से छलांग लगाने वाले लोगों पर अंकुश लगेगा और सुरक्षा के मद्देनजर भी लोगों को राहत मिलेगी। उपायुक्त कांगड़ा के प्रयासों से पूरे जिला कांगड़ा के तहत आने वाले सभी पुलों जहां पर पानी का बहाव ज्यादा है और अकसर लोग दुर्घटनाओं को अंजाम देते हैं वहां पर  रेलिंग लगाने को मंजूरी दी गई है। बताते चलें कि सुजानपुर ब्यास पुल जिसका अधिकतर हिस्सा जिला कांगड़ा की सरहद में आता है और कुछेक हिस्सा हमीरपुर जिला के हिस्से में है, लेकिन उपायुक्त कांगड़ा  द्वारा इस ब्यास पुल पर भी रेलिंग लगाकर बेहतरीन कार्य किया जा रहा है। बताते चलें कि ब्यास पुल पर लोग पहुंचकर दुर्घटनाओं को अंजाम देते थे। ब्यास नदी में छलांग लगाने का सिलसिला लगातार यहां पर बना रहता था। दर्जनों लोग यहां पर मौत को गले लगा बैठे, लेकिन इस तरह की वारदातों पर अंकुश लगे इस पर किसी ने ऐसी सोच नहीं लगाई, लेकिन उपायुक्त कांगड़ा द्वारा इस तरह की वारदातों पर रोक लगे इसके लिए अच्छी पहल करते हुए रेलिंग लगवाने का काम शुरू करवा दिया गया है। रेलिंग लगाने के लिए विशेष रूप से करीब 18 लाख का बजट रखा गया है। रेलिंग लगाने के लिए विशेष रूप से औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र शाहपुर से विशेष टीम यहां पर पहुंची थी, जिन्होंने इस कार्य को शुरू करवाया है। बताते चलें कि इससे पहले उपायुक्त कांगड़ा द्वारा नादौन ब्यास पुल पर भी रेलिंग लगवाने का कार्य पूरा करवाया जा चुका है। स्थानीय लोगों के साथ-साथ सुजानपुर व्यापार मंडल के अध्यक्ष शैलेंद्र गुप्ता, कपड़ा एसोसिएशन के प्रधान विनोद मेहरा, हिमाचल प्रदेश व्यापार मंडल प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विनोद ठाकुर के साथ-साथ सभी कोर कमेटी सदस्य ने उपायुक्त कांगड़ा के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए सराहनीय कदम बताया है। उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार ने जानकारी देते हुए बताया जिला कांगड़ा के तहत जो भी ऐसे पुल बने हैं, जहां पर दुर्घटनाओं का अंदेशा लगा रहता है वहां पर यह रेलिंग लगाई जाएगी। सुजानपुर ब्यास पुल पर भी लगातार दुर्घटनाएं होती थीं, आत्महत्या करने का सिलसिला बना रहता था। इसके लिए सुरक्षा के मद्देनजर लोहे की रेलिंग लगाई जा रही है, ताकि अप्रिय घटनाओं पर अंकुश लग सके।

You might also like