महानाटी से दिया मतदान का संदेश

मनाली —लोकतंत्र की मजबूती के लिए लोगों को मतदान करने का संदेश देने के लिए मनु की नगरी मनाली में मंगलवार को मेगा नाटी का आयोजन किया गया। इस लोक नृत्य में मनाली विधानसभा क्षेत्र की हजारों की संख्या में महिलाओं ने पारंपरिक वेशभूषा में सुसज्जित होकर बड़े उल्लास के साथ भाग लिया। कुल्लू-मनाली में प्रातः काल से ही रिम-झिम फुहारों के बीच महिलाओं का जोश लोकतंत्र के प्रति उनकी आस्था और विश्वास का जीवंत उदाहरण देखने को मिला। महिलाओं का दूर-दूर गांवों से मनाली पहुंचना सुबह से ही शुरू हो गया था और दस बजे तक मनाली शहर की समृद्ध संस्कृति से सराबोर हो गया। लोक नृत्य आरंभ होने से पूर्व एसडीएम अश्वनी ने महिलाओं तथा दर्शकों को मतदान की शपथ दिलाई। मतदान के महत्त्व पर धर्मेंद्र द्वारा लिखित गीतों तथा पारंपरिक वाद्य यंत्रों की धुन के साथ लोक नृत्य का आगाज हुआ। यह अद्वितीय नजारा थाए, जिसे मनाली में हजारों की संख्या में देशी व विदेशी सैलानियों ने अपने कैमरों में कैद कर लिया। लोक नृत्य के लिए बनाई गई मानव माला का आकर्षण देखते ही बन रहा था। हर कोई दर्शक  अपने पांव को थिरकन से नहीं रोक सका। मेगा नाटी के दौरान महिलाओं ने अपने एक हाथ में फोटो पहचान पत्रों को तथा स्याही के निशान युक्त दूसरे हाथ की तर्जनी उंगली को एक साथ लहराया, ताकि मतदान करने का संदेश जिला के कोने-कोने तक पहुंचे। नाटी के दौरान महिलाएं गुनगुनाती रहीं कि कितना ही आवश्यक कार्य क्यों न हो, सबसे पहले हम मतदान करेंगीं और अपने परिवार से भी वोट करवाएंगी। यही उद्देश्य है निर्वाचन विभाग का भी।  शिकायत के अधिकार से भी वंचित करता है मतदान न करना एसडीएम ने इस अवसर पर महिलाओं को संबोधित भी किया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में मतदान का बहुत बड़ा महत्त्व है और वोट हमारी सबसे बड़ी ताकत भी है। उन्होंने कहा कि हमें खुले मन से बिना किसी भय के अपने इस अधिकार का प्रयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मतदान का उपयोग न करके हम शिकायत करने के अधिकार को भी खो देते हैं। प्रत्येक नागरिक का कर्त्तव्य है कि वह लोकतंत्र को मजबूत करने में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान करे। उन्होंने मेगा नृत्य में आई सभी महिलाओं का आभार व्यक्त किया और उनसे अधिक से अधिक मतदान करवाने के लिए लोगों को जागरूक करने की भी अपील की।

85 प्रतिशत मतदान का लक्ष्य

एसडीएम ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान कुल्लू जिला में 64 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस बार जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिए 85 प्रतिशत का लक्ष्य निर्धारित किया है। उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।

You might also like