मुंबई से हार पर बल्लेबाज़ों से नाराज़ हुये धोनी

 

मुंबई से हार पर बल्लेबाज़ों से नाराज़ हुये धोनी

 आईपीएल-12 के फाइनल में सीधे प्रवेश पाने से चूकी चेन्नई सुपरकिंग्स की मुंबई इंडियन्स के हाथों घरेलू मैदान पर शिकस्त से टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी काफी निराश दिखे और इसके लिये उन्होंने बल्लेबाज़ों को जिम्मेवार ठहराया।चेन्नई की 6 विकेट से हार के बाद धोनी ने कहा कि किसी को तो हारना ही था। उन्होंने निराशाजनक स्वर में कहा,“हम अपने घरेलू मैदान पर अब तक कई मैच खेल चुकेे हैं और घरेलू परिस्थितियों की ज्यादा समझ होनी चाहिये थे। यहां का मौसम काफी पेचीदा है। हमने पिच को समझने में ही गलती कर दी।”मैच में चेन्नई की बल्लेबाज़ी काफी खराब रही और पहले बल्लेबाजी करते हुये टीम चार विकेट के नुकसान पर मात्र 131 रन ही बना पायी। अंबाटी रायुडू नाबाद 42 और धोनी नाबाद 37 रन के साथ टीम को 100 के पार ले गये जबकि शीर्ष क्रम के चार बल्लेबाज़ फ्लॉप रहे। कप्तान ने कहा,“ हमें बेहतर बल्लेबाजी करनी चाहिये थी। हमारा शीर्ष क्रम कभी अच्छा करता है तो कभी खराब। हालांकि वे सबसे अच्छे बल्लेबाज़ हैं”उन्होंने कहा,“आपको अनुभव पर भरोसा होना चाहिये। बल्लेबाज़ों को इसी अनुभव का और फायदा उठाना चाहिये था। उम्मीद है कि हम अगले मैच में विपक्षी टीम को समझ सकेंगे। दुर्भाग्य से हमने कई कैच टपकाये और हमें थोड़ी और बेहतर गेंदबाजी भी करनी चाहिये थी।”विकेटकीपर बल्लेबाज़ ने कहा,“हमें बल्लेबाज़ों से कुछ हटकर गेंदबाजी करनी चाहिये थी क्योंकि बोर्ड पर हमारे पास बचाने के लिये ज्यादा रन ही नहीं थे। हमें हर बाउंड्री से नुकसान हुआ। गेंद से अच्छी शुरूआत के बाद हमें लगातार बाउंड्री मिलती रहीं। हमारे लिये अच्छा यही है कि हम तालिका की शीर्ष दो टीमों में हैं और इससे हमारे पास टूर्नामेंट में एक और मौका है।”

 

You might also like