मेडिकल हब बना हमीरपुर संसदीय क्षेत्र

हमीरपुर —किसी भी देश, प्रदेश या फिर जिला को आगे ले जाने में वहां की स्वास्थ्य और शैक्षणिक सेवाओं का अहम योगदान होता है। ये दो ऐसी सुविधाएं हैं जो किसी भी क्षेत्र को आदर्श बनाती हैं। प्रदेश की बात करें तो यहां हमीरपुर संसदीय क्षेत्र ने पिछले कुछ वर्षों में स्वास्थ्य सेवाओं में नए आयाम स्थापित किए हैं। मेडिकल कालेज, पीजीआई सेटेलाइट सेंटर जैसे बड़े स्वास्थ्य संस्थानों के अलावा हमीरपुर संसदीय क्षेत्र देश की पहली ऐसी पार्लिमेंट्री है जहां सांसद मोबाइल स्वास्थ्य सेवा शुरू हुई। यह ऐसी सेवा है, जिसने घरद्वार जाकर न केवल लोगों की सेहत जांची बल्कि उन्हें जो-जो दवाइयां और जैसा इलाज चाहिए था, वो भी मुहैया करवाया।  आज चाहे लोग किसी भी जाति, धर्म या राजनीतिक पार्टी के हों, वे सांसद अनुराग के इन प्रयासों की सराहना करते हैं। पांच वर्षों में हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में लाई गई स्वास्थ्य सेवाओं की सूची बड़ी लंबी है। जिला बिलासपुर में 1350 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाला एमस अस्पताल स्वीकृत करवाया गया।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं केंद्रीय स्वास्थ मंत्री जेपी नड्डा ने इसकी आधारशिला रखी। हमीरपुर में मेडिकल कालेज खुला व 300 बिस्तर के अस्पताल के लिए 190 करोड़ रुपए की धनराशि स्वीकृत करवाकर नई नादौन के जोलसप्पड़ में बिल्डिंग का शिलान्यास करवाया गया। हमीरपुर, बिलासपुर व ऊना में मदर चाइल्ड केयर यूनिट के लिए 21-21 करोड़ की धनराशि मंज़ूर हुई। इसके अलावा ऊना में ट्रामा सेंटर के लिए 12 करोड़ रुपए मंजूर हुए। गंभीर किडनी रोगों से ग्रस्त लोगों को डायलिसिस करवाने के लिए बड़े शहरों या दूसरे राज्यों में न भटकना पड़े, इसके लिए हमीरपुर, ऊना व बिलासपुर के लिए डायलेसिस सेंटर मंजूर हुए। इनके अलावा ऊना में पीजीआई का सेटेलाइट सेंटर हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं की की बड़ी उपब्लिध है।

महिलाओं के लिए बनी वरदान

महिलाओं में तेजी से बढ़ रही बे्रस्ट कैंसर जैसी बीमारी का पता लगाने के लिए मोबाइल मेडिकल यूनिट अस्पताल नाम से लांच की गई। सांसद मोबाइल स्वास्थ्य सेवा के तहत इसकी लांचिंग मई 2018 में की गई। चौंकाने वाली बात थी कि लांचिंग के पहले ही दिन करीब 1650 महिलाओं ने चैकअप के लिए अपनी रजिस्ट्रेशन करवाई थी जोकि एक मिसाल थी। आज हजारों महिलाएं इस स्वास्थ्य सेवा का लाभ ले चुकी हैं। सांसद मोबाइल स्वास्थ्य सेवा में घरद्वार पर विभिन्न तरह के 40 टेस्ट फ्री में करने की सुविधा दी गई है और फ्री में दवाइयां दी जाती हैं।

You might also like