मोदी कैबिनेट में नड्डा, अनुराग या कपूर

हिमाचल को जगह मिलने की पूरी उम्मीद, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को राष्ट्रीय अध्यक्ष का दायित्व मिलने की भी चर्चा

शिमला —लगातार दूसरी बार केंद्र की सत्ता में राज करने वाली भाजपा में अब कैबिनेट मंत्रियों के लिए जंग भी शुरू हो चुकी है। मोदी कैबिनेट में हिमाचल को जगह मिलना तय माना जा रहा है, लेकिन अभी यह तय नहीं हुआ है कि पिछली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे जेपी नड्डा, चार लाख से अधि मतों से जीत दर्ज करने वाले किशन कपूर या हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से सांसद अनुराग ठाकुर को जगह मिलेगी। भले ही हिमाचल जैसे छोटे राज्य में मात्र चार सीटें हैं, लेकिन यहां चारों सांसदों ने लाखों वोटों से कांग्रेस को पराजित किया, जिस कारण इन दिनों कांग्रेस पूरी तरह से सदमे में है। अब केंद्र सरकार में हिमाचल को जगह मिले, इसके लिए पूरे प्रदेश की निगाहें दौड़ रही हैं। ऐसे में जगत प्रकाश नड्डा, अनुराग ठाकुर और किशन कपूर में से किसी एक को जगह मिल सकती है। मोदी सरकार में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा को भी नए मंत्रिमंडल में प्रबल दावेदार माना जा रहा है। हालांकि उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की सियासी गलियारों में चर्चा है। कारण यह भी है कि जेपी नड्डा ने यूपी के पार्टी प्रभारी रहते हुए महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को कैबिनेट मंत्री की कुर्सी मिल सकती है, इसे देखते हुए जेपी नड्डा को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान सौंपने की तैयारी हो रही है। अब देखना है कि मोदी कैबिनेट में पहले चरण की लिस्ट में हिमाचल के इन नेताओं को जगह मिल पाती है या नहीं?

शाह कर गए हैं वादा

चुनावी रैली के दौरान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में ऐलान किया था कि अनुराग ठाकुर को यहां से भारी मतों से जिताओ और इन्हें हम बड़ी जिम्मेदारी सौंपेंगे। अमित शाह के उस बोल से जाहिर है कि इस बार अनुराग ठाकुर को केंद्रीय मंत्रिमंडल में कहीं न कहीं जगह मिल सकती है। उन्होंने 2008 से अब तक लगातार चौथी बार चुनाव जीत कर आए हैं।

अब तक पांच नेताओं को तोहफा

लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचे अब तक प्रदेश के पांच नेताओं को केंद्रीय कैबिनेट में कुर्सी मिल चुकी है। पहली बार राज कुमारी अमृत कौर को हिमाचल का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला। वह देश की पहली महिला स्वास्थ्य मंत्री बनी थी। उसके बाद कांगड़ा-चंबा सीट से पूर्व सांसद विक्रम चंद महाजन, शांता कुमार, पंडित सुखराम और वीरभद्र सिंह लोकसभा चुनाव जीतकर केंद्रीय मंत्री के पद पर रह चुके हैं। वहीं, दूसरी तरफ राज्यसभा सांसद रहते कांग्रेस के आनंद शर्मा और भाजपा के जगत प्रकाश नड्डा को केंद्रीय मंत्री की कुर्सी मिल चुकी है। ऐसे में इस बार देखना है कि मोदी कैबिनेट में लोकसभा से जीत कर आए सांसद या राज्यसभा सांसद को जगह मिलती है।

You might also like