मोदी-जयराम नहीं तो क्या सुखराम के नाम पर मांगू वोट

 रामस्वरूप शर्मा बोले, मैं भिखारी ही ठीक हंू मगर दुराचारी व भ्रष्टाचारी नहीं, रिपोर्ट कार्ड देखना है तो गूगल चैक करे कांग्रेस

मंडी -2014 के लोकसभा चुनावों में मंडी संसदीय क्षेत्र के लोगों ने जो दायित्व सौंपा था, उसे मैंने पूर्ण रूप से निर्वाह किया है। संसदीय क्षेत्र के तमाम मुद्दों को लोकसभा में उठाया तथा बड़ी परियोजनाएं लाने में कामयाब रहा। छोटी काशी के ऐतिहासिक पड्डल मैदान में आयोजित विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप शर्मा ने ये शब्द कहे। उन्हांेने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने पूर्व सैनिकांे व शहीदों का अपमान किया है। अपने लिए तो बंगले और कोठियां बना लीं, मगर एक शहीद स्मारक मंडी में नहीं बना पाए। कांग्रेस के नेता जो दादा-पोता की भूमिका में लोगों को गुमराह करने में लगे हुए हैं तथा कहते हैं कि भाजपा प्रत्याशी प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम पर वोट मांग रहे हैं। मेरा जो नेता है, मुझे उसके नाम पर ही वोट मांगने हैं। यदि मैं  पीएम और सीएम के नाम पर वोट न मांगू तो क्या मैं दादा-पोता के नाम पर वोट मांगू। वह मुझे भिखारी कहते हैं, मगर उन्हें पता होना चाहिए कि मैं भिखारी ही ठीक हंू, लेकिन मैं दुराचारी और भ्रष्टाचारी नहीं हंू। पोता जनसभाओं में कहता है कि उन्हें दादा का सपना पूरा करना है तो वह सपना अभी क्या बचा है या भ्रष्टाचार में कुछ कमी रह गई है जो पूरी करनी है। उन्होंने कहा कि मंडी संसदीय क्षेत्र के लिए क्लस्टर यूनिवर्सिटी खुल चुकी है, मेडिकल यूनिवर्सिटी, कैंसर अस्पताल, ट्रॉमा सेंटर, हवाई अड्डे का सर्वेक्षण हो चुका है, रेलवे लाइन का सर्वेक्षण भी पूरा हो चुका है, दं्रग नमक खान को शुरू कर दिया गया है, दो ऐतिहासिक टनलों की डीपीआर स्वीकृत हो चुकी है, जबकि कंेद्र से जितने भी एनएच स्वीकृत हुए थे, उनकी डीपीआर भी बनकर लगभग तैयार है। रामस्वरूप शर्मा ने कहा कि 19 मई को लोकतंत्र के पर्व पर कमल निशान का बटन दबाएं और मुझे अपनी सेवा करने का मौका दें।

You might also like