मोदी लहर ने रौंदी कांग्रेस

अदना सा नेता हो या फिर दिग्गज,जो आगे आया मोदी लहर में बह गया। गुरूवार को हिमाचल की सुबह बादलों से घिरी थी,तो उस समय किसी भी कांग्रेसी लीडर ने यह न सोचा होगा कि ये संकट के बादल हैं। कांगड़ा हो या शिमला,हमीरपुर हो या मंडी, कई ऐसे बूथ थे, जहां कांग्रेस को उम्मीद से बहुत कम वोट मिले। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का कहा एक-एक शब्द सच हुआ कि इस बार मोदी लहर नहीं, कहर है….

सीएम ने सबको चौंकाया

शिमला— भाजपा के दिग्गजों की बात करें तो यह नेता लोकसभा चुनाव में वाकई दिग्गज बनकर उभरे हैं। भाजपा की ओर से सबसे अहम जिम्मेदारी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पर थी, जिनके दम पर पार्टी ने न केवल सिराज या मंडी संसदीय क्षेत्र में बड़ी लीड हासिल की बल्कि प्रदेश के दूसरे क्षेत्रों में भी मुख्यमंत्री का चेहरा मतदाताओं ने देखा और उसे बेहद पसंद भी किया है। जयराम के सिराज में 37 हजार से अधिक की लीड प्रत्याशी को मिली है , जिससे लगा कि सिराज एकतरफा चल निकला।

सत्ती ने बढ़ाया मार्जिन

भाजपा के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती भले ही विधानसभा चुनाव में हार गए थे, लेकिन उनके विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने अपनी उस भूल को स्वीकार करते हुए लोकसभा में पूरा साथ दिया। यहां से 24 हजार से अधिक की लीड दिलाकर उन्होंने भाजपा अध्यक्ष का रूतबा संगठन में और बढ़ा दिया है।        

शांता ने दिलाई लीड

भाजपा नेता शांता कुमार, जिनका कांगड़़ा संसदीय क्षेत्र में विशेष रुतबा है, के विधानसभा क्षेत्र से भाजपा को 19300 से अधिक की लीड बताई जा रही है। शांता कुमार ने चुनाव में हाथ पीछे खींच लिए, लेकिन पार्टी के लिए न केवल कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में प्रचार किया बल्कि पूरे प्रदेश में स्टार प्रचारक के रूप में निकले। 

धूमल का चला जादू

पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में जलवा अच्छा खासा दिखा। उनके विधानसभा क्षेत्र से भाजपा को 27500 से ज्यादा मतों की लीड रही है। इसमें अनुराग ठाकुर का अपना भी बड़ा हाथ रहा है, लेकिन धूमल परिवार को लोगों ने इस चुनाव में सिर आंखों पर बिठाया।

You might also like