मोदी सरकार की शपथ के बाद मंत्रिमंडल विस्तार

मुख्यमंत्री ने किया साफ, कुछ जिलों के डीसी-एसपी सहित प्रशासनिक सचिवों के भी तबादले होंगे

शिमला – मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार केंद्र में मोदी सरकार के शपथ समारोह के बाद होगा। मुख्यमंत्री ने चुनावी नतीजों के तुरंत बाद प्रदेश में बड़े स्तर पर प्रशासनिक फेरबदल के संकेत दिए हैं। उनका कहना है कि कुछ जिलों के डीसी और एसपी सहित प्रशासनिक सचिवों के तबादले होंगे। बूथ कैप्चरिंग के आरोपों को जयराम ठाकुर ने सराज क्षेत्र की जनता का घोर अपमान करार दिया। इसके अलावा पूर्व मंत्री अनिल शर्मा के खिलाफ पुख्ता सबूत होने का दावा करते हुए कहा कि चुनावों में उनकी भूमिका संदेहास्पद रही है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बुधवार को दिल्ली से लौटकर अपने सरकारी आवास में ‘दिव्य हिमाचल’ से विशेष बातचीत कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र में सरकार के गठन के बाद प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। इसके लिए केंद्रीय नेतृत्व को विश्वास में लिया जाएगा। मंत्रिमंडल में एक पद ऊर्जा मंत्री के त्यागपत्र से और दूसरा जल्द खाली होने वाला है। इसके चलते मंत्रिमंडल में विस्तार होना स्वभाविक है। उन्होंने दो नए मंत्रियों की ताजपोशी के अलावा मंत्रियों के विभागों में फेरबदल के भी प्रबल संकेत दिए हैं। सीएम ने कहा कि फिलहाल हमारा फोकस 23 मई को चुनावी नतीजों पर है। इसके बाद केंद्र में मोदी जी की सरकार बन जाए। उसके बाद मंत्रिमंडल के विस्तार और फेरबदल संभावित है। दिल्ली से लौटे जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में बड़े स्तर पर प्रशासनिक फेरबदल होगा। इसके चलते जिला के डीसी-एसपी और प्रशासनिक सचिवों के तबादले जल्द होंगे। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक फेरबदल रूटीन प्रक्रिया का हिस्सा है। लोकसभा चुनावों के बाद सरकार नए उत्साह के साथ अपना काम शुरू करेगी। इस कारण प्रशासनिक फेरबदल होना तय है। इसके चलते लोकसभा चुनावों के नतीजों के कुछ समय बाद प्रशासनिक फेरबदल हो सकता है। मुख्यमंत्री का कहना है कि बूथ कैप्चरिंग के आरोप मेरे क्षेत्र की जनता का अपमान है। इससे पहले भी मेरे विधानसभा क्षेत्र में 86 प्रतिशत मतदान हुआ है। इन लोकसभा चुनावों को लेकर पूरे प्रदेश में काफी उत्साह था। सिराज विधानसभा क्षेत्र के जागरूक मतदाताओं ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इस भारी मतदान के लिए सिराज की जनता को कठघरे में खड़ा करने का किसी को भी हक नहीं है।  सीएम का कहना था कि चुनाव में जीत-हार चलती रहती है। इसके संभावित नतीजों पर लोकतंत्र को भी कटघरे में खड़ा कर देना न्यायसंगत नहीं है।

शिमला रेप प्रकरण की जांच से संतुष्ट

शिमला में युवती से तथाकथित रेप मामले पर मुख्यमंत्री ने पुलिस की जांच पर संतोष व्यक्त करते हुए कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह पर पलटवार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जांच को प्रभावित करने के लिए विक्रमादित्य सोशल मीडिया पर तरह-तरह की टिप्पणियां कर रहे हैं। सीएम ने कांग्रेस विधायक को नसीहत दी है कि अगर उनके पास इस मामले में कोई सबूत है तो वह पुलिस को साक्ष्य सौंपकर जांच में सहयोग करें।

You might also like