मौत के सबूत मिटाने पर एफआईआर

चरूड़ी स्कूल के शिक्षकों व छात्र के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू

ठाकुरद्वारा -उपमंडल नूरपुर के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चरूड़ी के 11 वर्षीय छात्र की मौत के मामले में आखिरकार एफआईआर हो गई है। पुलिस ने स्कूल के ही एक छात्र की शिकायत पर शिक्षकों व एक छात्र के खिलाफ  गैर इरादतन हत्या सेेबूत मिटाने को लेकर केस दर्ज किया है। मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस को दी शिकायत में दस वर्षीय छात्र ने मामले को लेकर खुलासा किया। छात्र ने बताया कि वह छठी कक्षा का विद्यार्थी है। 15 मई को वह, उसका भाई और एक अन्य छात्र स्कूल गए।  वे सुबह सवा आठ बजे स्कूल पहुंचे। उसके बाद केतन भी स्कूल पहुंचा। केतन, उसका भाई और अन्य लड़का पकड़म पकड़ाई खेलने लगे। उसी समय एक अन्य छात्र भी बांस का बैट लेकर जुराब की गेंद बनाकर खेल रहा था। केतन पकड़म पकड़ाई खेलते हुए एक-दो बार उस छात्र के सामने से गुजरा। छात्र ने गुस्से में आकर केतन के सिर के पीछे से वार कर दिया। इससे केतन मुंह के बल पुलिया से जा टकराया व बेहोश हो गया। दो छात्रांे ने उसे उठाया और पुलिया पर रख दिया। इसके बाद शोर सुनने पर चपरासी  वहां पहुंचा। चपरासी व  अन्य छात्रों की मदद से केतन को उठाकर स्कूल के कार्यालय ले गए। केतन को वहां लेटा दिया गया। उसी समय शिक्षक अरुण स्कूल में आ गए थे। केतन की बहन शिल्पा और काजल को बुलाया। काजल से उसकी माता का नंबर पूछा,  फिर केतन की मां और ड्राइवर को फोन किया। कमरे के अंदर से काजल व शिल्पा को बाहर निकाल दिया। केतन ने दो खून की उल्टियां की थीं। मैडम ने अंदर से स्काउट एंड गाइड की कमीज निकाली और पहनाई। केतन की वर्दी की कमीज जिस पर केतन ने खून की उल्टियां की थीं उसे केतन की बहन काजल को दिया और कहा कि इसे धो डालो। इसके बाद केतन को गाड़ी में इलाज के लिए नूरपुर ले जाया गया। डीएसपी साहिल अरोड़ा ने मामला दर्ज करने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच गहनता से की जाएगी। मामले के सबूत जुटाएं जाएंगे। अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो गिरफ्तारी भी होगी।

 

You might also like