यमुना बैरियर के जाम पर कब लगेगी लगाम

पिछले वर्ष सितंबर में एनएच प्राधिकरण व पांवटा व्यापार मंडल ने संयुक्त तौर पर किया था बैरियर का दौरा

पांवटा साहिब -गोविंदघाट बैरियर यमुना पुल पर वाहनों का लंबा जाम लगने से बचने के लिए विकल्प की तलाश लगता है अधर में लटक गई है। पिछले वर्ष सितंबर मेंे एनएच प्राधिकरण व पांवटा व्यापार मंडल ने संयुक्त तौर पर बैरियर का दौरा किया तथा जाम से बचने का हल ढूंढने का प्रयास किया था, लेकिन उसके बाद से विकल्पों पर कोई काम नहीं हुआ है, जिससे जाम की स्थिति यथावत बनी रहती है। इससे पुल पर भी वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग जाती हैं। व्यापार मंडल के प्रधान अनिंद्र सिंह नौटी ने कहा कि उन्होंने एनएच के अधिकारियों को बताया था कि टोल बैरियर के कांन्ट्रैक्टर व कर्मचारियों से यमुना पुल पर जाम से स्थानीय लोगों तथा पर्यटकों को परेशानी हो रही है। इसे दूर करने की रणनीति और विकल्प तलाशे जाने पर बातचीत हुई थी। इस दौरान व्यापार मंडल पांवटा साहिब, नेशनल हाई-वे अथॉरिटी के एक्सईएन विजय अग्रवाल और उनकी टीम, एक्साइज डिपार्टमेंट के अधिकारी और पुलिस कर्मियों ने मिलकर टोल बूथ के दोनों तरफ से डबल लाइन में पर्ची कटने का डेमोंसट्रेशन भी करवाया था, जो मौके पर कामयाब दिखा। व्यापार मंडल के प्रधान का कहना है कि व्यापार मंडल ने बहुत पहले टोल बैरियर इससे आगे पांवटा की तरफ  शिफ्ट करने की मांग प्रशासन से की थी,  जिस पर कांट्रैक्टर ने कोर्ट से स्टे लिया हुआ है। पांवटा साहिब में लगातार लगते जाम और पुलिस यातायात कर्मियों द्वारा पर्यटकों के चालान काटे जाने के कारण बहुत बड़ी संख्या में पर्यटक और श्रद्धालु चंडीगढ़ से वाया अंबाला यमुनानगर रुड़की होकर उत्तराखंड जाने लगे हैं। क्योंकि वैसे भी चंडीगढ़ से यमुनानगर तक सड़क सिक्स लेन एक्सप्रेस-वे बन चुकी है। जिसका पांवटा साहिब में पर्यटन कारोबार पर विपरीत असर पड़ रहा है। गौर हो कि हिमाचल और उत्तराखंड को जोड़ने वाले यमुना पुल पर पांवटा साहिब की तरफ  टोल बैरियर है। यह बिल्कुल पुल के साथ है और यहां पर पर्ची काटने का एक ही बूथ है, जिस कारण अकसर यहां जाम की स्थिति बनी रहती है। सामाजिक संस्थाओं ने भी इस बूथ को थोड़ा पांवटा की तरफ शिफट करने और दो पर्ची काउंटर बनाने की मांग की है, लेकिन अभी तक स्थिति जस की तस है। यही नहीं एसपी सिरमौर ने भी टोल बैरियर के ठेकेदार को दो पर्ची काउंटर बनाने के आदेश दिए थे, ताकि जाम न लगे, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है, जिससे अकसर जाम की स्थिति बनी रहती है। इस बारे में व्यापार मंडल पांवटा के अध्यक्ष अनिंद्र सिंह नौटी ने बताया कि फिर से एनएच प्राधिकरण से बात की जाएगी, ताकि सुझाए गए विकल्प पर कार्य हो सके।

 

You might also like