युवक ने डर के मारे बनाई झूठी कहानी

गगरेट—जिले में वायरल हुई एक युवक की निर्मम पिटाई की वीडियो के बाद बेशक पुलिस भी हरकत में आई है लेकिन इस मारपीट का शिकार हुए युवक ने उन युवकों पर कई संगीन आरोप लगाए हैं जो इस मामले में शामिल थे। ‘दिव्य हिमाचल’ से उस युवक को ढूंढ निकाला है जिसको वायरल हुई वीडियो में जानवरों की तरह पीटा गया है। युवक ने खुलासा किया है कि उसका कुछ युवकों ने  26 अप्रैल को उसका गगरेट से अपहरण कर लिया था और उसके बाद उसे एक पोल्ट्री फार्म पर ले जाकर उसकी निर्ममता के साथ पिटाई की गई। इस मामले में पुलिस कार्यप्रणाली पर भी प्रश्न चिन्ह लग रहा है क्योंकि मारपीट के बाद युवक को ऊना सदर पुलिस थाना ले जाया गया था, लेकिन पुलिस ने मारपीट करने वाले युवकों की कहानी पर विश्वास कर लिया। पंजाब के होशियारपुर जिले के सलेरन गांव का अवतार सिंह चुहल में स्थित एक उद्योग में सिक्योरिटी गार्ड के रूप में तैनात है और शुक्रवार 26 अप्रैल को वह अपने एक दोस्त के साथ गगरेट गया था। अवतार सिंह के अनुसार वहां आठ दस लड़के खड़े थे जिन्हें देख कर उसका दोस्त भाग गया और उसे युवकों ने पकड़ लिया। उसकी पिटाई करने के बाद युवक उसका एक गाड़ी में अपहरण कर ऊना की तरफ  ले गए और एक पोल्ट्री फार्म में उसकी जानवरों से भी बदतर पिटाई की। जब वह बेहोश हो गया तो उस पर पानी फेंक कर होश में लाया गया और फिर उसकी पिटाई की। इसके बाद उसे जान से मार डालने का खौफ दिखा कर ऊना सदर थाना ले गए और पुलिस ने भी उनकी कहानी पर विश्वास कर लिया। अवतार सिंह एक सप्ताह तक बिस्तर पर ही रह और उसके सिर में भी गंभीर चोटें आई हैं। सलेरन गांव के साबका प्रधान नवजिंदर सिंह का कहना है इस घटना के बाद यहां के लोगों में खौफ है और लोग गगरेट की तरफ जाने से घबरा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें हिमाचल पुलिस पर विश्वास है लेकिन अगर न्याय न मिला तो लोग सड़कों पर उतरेंगे।

युवक ने लगाए वीडियो बनाने के आरोप

पीडि़त युवक ने यह भी आरोप लगाए हैं कि उसके कपड़े उतारकर वीडियो भी बनाया गया। जब कि उसका मामले से कोई लेनादेना नहीं था। उधरए प्रधान ने कहा कि यह युवक मारपीट की घटना होने के बाद डिप्रेशन में चल गया था। उन्होंने कहा कि यदि मामले मे संलिप्त लोगों के खिलाफ कार्यवाही नहीं हुई तो प्रदर्शन किया जाएगा।

You might also like