राजीव के नाम पर लड़कर दिखाएं चुनाव

प्रधानमंत्री मोदी की कांग्रेस को चुनौती, ममता पर भी हमला

चाईबासा –लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिवंगत पूर्व पीएम राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी नंबर वन बताया तो कांग्रेस के अलावा कई अन्य विपक्षी दलों के नेता विरोध के लिए सियासी मैदान में उतर आए। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रोदा समेत कई नेताओं ने इस बयान की निंदा के साथ पीएम मोदी पर पलटवार किया। प्रधानमंत्री मोदी ने इन हमलों को लेकर झारखंड के चाइबासा में एक जनसभा के दौरान फिर से निशाना साधा है। साथ ही उन्होंने चुनौती देते हुए कहा है कि हिम्मत है तो आओ चुनाव मैदान में पूर्व प्रधानमंत्री के मान-सम्मान के नाम पर चुनाव लड़ लिया जाए। चाइबासा में जनसभा के दौरान मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि नामदार और उनके साथी अमर्यादित भाषा में प्रधानमंत्री को गाली देते रहते हैं। मैंने एक सभा में पुराने बोफोर्स के भ्रष्टाचार को याद कराया तो तूफान आ गया। कुछ लोगों के तो पेट में इतना दर्द हुआ कि बस दहाड़े मार-मारकर रोना ही बाकी रह गया। जनसभा में मोदी ने कहा कि इन महामिलावटी दलों में एक-दूसरे का हर तरह का गुनाह माफ होता है। 50-60 साल से जो दरबारी इन्होंने पाले-पोसे हैं, जो इकोसिस्टम तैयार किया गया है, वह इनके हर प्रकार के दाग धोने का काम कर रहा है।

पीएम ने भगवान राम के बहाने घेरीं दीदी

झारग्राम। पीएम नरेंद्र मोदी ने तामलुक के बाद झारग्राम में भी सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को निशाने पर लिया। भगवान राम के बहाने ममता पर बरसते हुए पीएम ने सवालिया लहजे में पूछा कि क्या पश्चिम बंगाल में राम नाम लेना गुनाह हो गया है? पीएम ने आरोप लगाया कि ममता जय श्रीराम का अभिभावदन करने भर से ही लोगों को जेल में डाल दे रही हैं। इस दौरान पीएम ने भगवान राम को लेकर ममता को एक चेतावनी भी दे डाली। पीएम ने कहा कि दीदी ने जय पीउमूपीएमश्रीराम का अभिवादन करने भर से ही लोगों को जेल में डालना शुरू कर दिया है। पश्चिम बंगाल में राम नाम लेना भी अपराध हो गया है क्या? अरे दीदी, राम जी के आगे अच्छे-अच्छों का अहंकार चूर-चूर हो गया, आपका अहंकार कहां तक ठहर पाएगा।

You might also like