रामपुर में मिली भाजपा को लीड

रामपुर बुशहर—वीरभद्र सिंह भले ही कांग्रेस के नेता है लेकिन इस बार उनका नाम लेकर भाजपा ने अपना वोट बैंक बढ़ाया है। ये हैरान करने वाली बात कांग्रेस कमेटी रामपुर के अध्यक्ष ज्ञान मेहता ने कही। उन्होंने कहा कि रामपुर भाजपा ने विशेष रणनीति के तहत हर गांव में जाकर ये कहा कि इस बार वीरभद्र सिंह इसलिए रामपुर के दौरे पर नहीं है कि वह चाहते है कि इस बार यहां की जनता भाजपा को वोट दें। ऐसे में कांग्रेस ने रामपुर से करारी हार का ठीकरा भाजपा की रणनीति पर फोड़ा है। उन्होंने कहा कि यहां से भाजपा को मिली लीड पर रविवार को मंथन किया जाएगा। उस दिन हर जोन प्रभारी बुलाए गए है। सभी से इस बात की पूछताछ की जाएगी की कि ऐसा क्या हुआ कि न केवल पिछली लीड को कांग्रेस बचा पाई बल्कि 11 हजार की लीड भाजपा की झोली में चली गई। सब बातों पर मंथन किया जाएगा। मेहता ने इस बात के भी संकेत दिए कि यहां से मिली हार को देखते हुए संगठन में बदलाव किया जाएगा। युवाओं को संगठन में अहम जिम्मेदारी देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपनी लीड को पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नाम पर बढ़ाया जरूर है लेकिन ये भविष्य के लिए बरकरार नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि यहां की हार का पोस्टमार्टम कर उससे जो भी रिजल्ट निकलेगा उसे कांग्रेस के जिला व प्रदेश स्तर को सूचित किया जाएगा, ताकि इसमें सुधार किया जा सके। उन्होंने कहा कि इस बार कांग्रेस के अहम पोंलिग बूथों से जो लीड भाजपा को गई है उस पर भी चर्चा की जाएगी।

You might also like