रिटायर्ड अधिकारियों को सेवा विस्तार का विरोध

बरठीं—पीडब्ल्यूडी विभाग में उच्चाधिकारियों को सेवानिवृत्ति के बाद और सेवा विस्तार देने को लेकर अधिनस्थ कर्मचारियों ने कड़ा विरोध किया जताया है। इस वर्ग का कहना है कि सेवा विस्तार से बेहतर है, जो इन पदों या पदोन्नति के हकदार हैं, उन्हें उनका हक मिलना चाहिए कि चापलूसी की बैसाखियों पर सेवानिवृत्त हो चुकी अधिकारियों की सेवा में और विस्तार न किया जाए। सरकार के इस निर्णय को गैर जरूरी करार देते हुए तुरंत निर्णय को वापस लेने की मांग भी सरकार से की है। प्रदेश कनिष्ठ अभियंता संघ बिलासपुर जोन के अध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि अभी हाल में पीडब्ल्यूडी से 31 मार्च को रिटायर हुए मुख्य अभियंता और एक अधीक्षण अभियंता को सेवा विस्तार दिया गया, जिसका पूरे प्रदेश में एक स्वर में विरोध किया गया। राजीव कुमार ने बताया कि इस तुगलकी फरमान के विरोध में कर्मचारियों ने अपनी आवाज बुलंद की तब कहीं जाकर न्याय मिला। राजीव कुमार ने बताया कि दशकों से पदोन्नति की राह देख रहे कनिष्ठ अभियंता, सहायक अभियंता, अधिशाषी अभियंता, अधीक्षक अभियंता तथा मुख्य अभियंता प्रभावित हो रहे हंै। मुख्य सचिव को 19-12-2017 के उच्च न्यायालय के उस निर्णय से भी अवगत करवाया, जिसमें कहा गया है कि केवल उन्हीं परिस्थितियों में सेवा विस्ताार दिया जा सकता है जब विभाग से संबंधित पद के लिए योग्य अधिकारियों की कमी हो या निचली  पंक्ति में बैठे अधिकारी की ऊंचे पद के लिए योग्यतान हो। उन्होंने बताया कि इस निर्णय के बाद सरकार ने आठ फरवरी, 2018 को अधिसूचना भी जारी की है। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से इस मामले में व्यक्तिगत हस्तक्षेप कर न्याय की मांग की है।

You might also like