रिपोह मुझलिया में घर-पशुशाला बने तालाब

अंब—ग्राम  पंचायत रिपोह मुझलिया के तहत वार्ड नंबर सात में उस समय लोगों में अफरा-तफरी मंच गई जब अचानक आए पानी के बहाब से लोगों के घरों व पशुशालाओं ने तालाब का रूप धारण कर लिया। पीडि़त ग्रामीण धनी राम, सुखदेव शर्मा, राजिंद्र कुमार, सुरिंद्रा देवी, त्रिशला देवी आदि ने बताया कि उनके घरों के नजदीक आईपीएच विभाग द्वारा स्थापित वाटर टैंक का पानी ओवरफ्लो होने के बाद उनके घरों व पशुशालाओं में पानी घुस गया। उन्होंने बताया कि टैंक का पानी कब से ओवरफ्लो हो रहा था, इस बात की कोई जानकारी उनके पास नहीं है। लेकिन रविवार सुबह जब लोग उठे तो सारी घटना की जानकारी का पता चला। उन्होंने बताया कि करीब एक वर्ष पूर्व उनके घरों के साथ लगती एक पहाड़ी पर विभाग द्वारा जो वाटर टैंक स्थापित किया गया था। उसकी मिट्टी को बहीं पड़ा रहने दिया था। रविवार को टैंक के पास पड़ी मिट्टी पानी सहित उनके घरों व पशुशालाओं में प्रवेश कर गई। उन्होंने बताया कि उनके कई पशु मिट्टी व पानी के दलदल में फंस गए। वहीं घरों में पड़ा सामान भी पानी से खराब हो गया। उन्होंने बताया कि घंटों समय तक पानी का बहाब होने से घरों व पशुशालाओं ने तालाब का रूप अख्तियार कर लिया। उक्त घटना के पीछे विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही साफ झलक रही है। इस तरह की कई घटनाएं इससे पहले भी कई टंैकों में हो चुकी हैं। अकसर देखा गया है कि विभाग के कर्मचारी लोकल होने के चलते टैंक में पानी छोड़ घरों में बैठ जाते हंै या फिर नजदीक के किसी परिचित व्यक्ति की पानी छोड़ने व बंद करने की ड्यूटी लगा देते हैं। फिलहाल उक्त घटना को लेकर स्थानीय लोगों में भारी रोष पाया जा रहा है। इस संबंध में विभाग के एसडीओ पंकज कुमार से बात करने पर उन्होंने बताया की टैंक का ओवरफ्लो होना गलत है। इसमें कसूरबार के खिलाफ कारवाई की जाएगी।

You might also like