रूसा फेज-टू के 75 करोड़ फंसे

मुख्य सचिव ने मांगा बकाया बजट, 88 में से सिर्फ 13 करोड़ मिले

शिमला – रूसा के दूसर चरण के तहत प्रदेश को केंद्र से कुल 88 करोड़ में से अभी तक 13 करोड़ ही मिले हैं। इसी को लेकर हिमाचल प्रदेश के  कालेजों में रूसा के तहत रुके बजट को स्वीकृत करने के लिए बुधवार को मुख्य सचिव बीके अग्रवाल ने भारत सरकार के उच्च शिक्षा सचिव आर सुब्रह्मण्यम से दिल्ली में भेंट की।  इस दौरान रूसा से संबंधित लंबित मुद्दों पर चर्चा कर विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत शीघ्र धनराशि जारी करने का आग्रह किया। उन्होंने रूसा-टू के अंतर्गत 75 करोड़ रुपए की बकाया राशि को शीघ्र जारी करने का आग्रह किया और सूचित किया कि कुल 88 करोड़ रुपए की राशि में से केवल 13 करोड़ रुपए अभी तक जारी किए गए हैं। उन्होंने रूसा-वन के तहत 39 करोड़ रुपए की बकाया राशि को जारी करने की मांग की, जिसका उपयोगिता प्रमाणपत्र पहले ही जमा किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि डीएवी कोटखाई को नए मॉडल कालेज के तौर पर स्तरोन्नत करने के लिए चार करोड़ की डीपीआर मानव संसाधन विकास मंत्रालय को प्रस्तुत की जा चुकी है। उन्होंने इसके लिए पहली किश्त शीघ्र जारी करने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि रूसा के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं और दिशा-निर्देशों के अनुसार कुछ सुधार किए गए हैं। उन्होंने कहा कि अधिकांश जारी की गई धनराशि का उपयोग किया जा चुका है, जिससे रूसा-वन के अंतर्गत अब तक 66 उच्च शिक्षण संस्थान लाभान्वित हुए हैं। भारत सरकार के सचिव ने मुख्य सचिव को लंबित मुद्दों पर उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

 

You might also like