रेणुकाजी क्षेत्र का विकास 15,832 मतों की भाजपा की लीड का कारण

संगड़ाह—कांग्रेस का गढ़ कहलाने वाले रेणुकाजी विधानसभा के कुल 123 मतदान केंद्रों में से भाजपा को पहली बार 112 बूथ पर बढ़त मिलने तथा कांग्रेस से दोगुना से भी ज्यादा वोट मिलने को क्षेत्रवासी मोदी लहर का असर तथा हलके में कांग्रेस की स्थिति कमजोर होना करार दे रहे हैं। हिमाचल के पहले मुख्यमंत्री डा. वाईएस परमार का विधानसभा क्षेत्र रहे रेणुकाजी हलके से 2017 के विधानसभा चुनाव में, जहां कांग्रेस को 5160 मतों की बढ़त मिली थी। वहीं इस लोकसभा चुनाव में भाजपा को 15,832 वोट की बढ़त मिली। वर्तमान चुनाव में क्षेत्र से, जहां कांग्रेस को मात्र 15,690 वोट मिले, वहीं भाजपा को इससे दोगुना से भी ज्यादा 31,522 मत प्राप्त हुए। कांग्रेस का गढ़ कहे जाने वाले इस विधानसभा क्षेत्र से अब तक केवल 2011 के उपचुनाव में पहली व आखिरी बार भाजपा प्रत्याशी हृदय राम विधायक चुने जा सके हैं। सूबे में भाजपा की सरकार होने के बावजूद पार्टी को उक्त उप-चुनाव में मात्र 3527 के करीब मतों की बढ़त मिल सकी थी। क्षेत्र के भाजपाइयों की मानें तो इलाके के मतदाताओं ने केंद्र व प्रदेश सरकार के विकास व कल्याणकारी योजनाओं के लिए वोट किया है। भाजपा मंडल अध्यक्ष प्रताप तोमर तथा जगत सिंह, दिनेश चौहान, विजेंद्र शर्मा, धर्मपाल सूर्या, प्रताप सिंह, सोम प्रकाश, अनिल भारद्वाज व पीएस रावत आदि स्थानीय भाजपा नेताओं ने वर्तमान प्रदेश सरकार द्वारा संगड़ाह में एसडीपीओ कार्यालय व ददाहू में कालेज खोले जाने को क्षेत्र के लिए बड़ी उपलब्धि बताया। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष दो जून को, जहां प्रदेश सरकार द्वारा संगड़ाह में डीएसपी कार्यालय शुरू किया गया है, वहीं पिछले चार अक्तूबर को शिक्षा मंत्री द्वारा ददाहू कालेज में भी कक्षाओं का विधिवत शुभारंभ किया गया है। भाजपाइयों के बयान में मोदी लहर के अलावा अन्य दो जीत के कारणों को लेकर किसी भी दल ने अधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। इस तथाकथित किले के केवल संगड़ाह-एक, खूड़, बलीच, कोटीधिमान, चाड़ना, गवाणू, मेहत, माईना, खाला-क्यार व कोटिया बूथ पर कांग्रेस को बढ़त मिल सकी, जबकि गतलोग मतदान केंद्र पर दोनों दलों को बराबर वोट मिले। संगड़ाह पंचायत के चारों बूथ पर जहां भाजपा को कुल 209 मतों की बढ़त मिली। वहीं इसी क्षेत्र में मौजूद स्थानीय विधायक विनय कुमार के मतदान केंद्र माईना से उनकी पार्टी को महज दो मतों की बढ़त मिल सकी। स्थानीय भाजपा नेताओं में अपने बूथ से सबसे ज्यादा लीड दिलाने में पूर्व विधायक हृदय राम चौहान अव्वल रहे तथा उनके मतदान केंद्र दिऊड़ी से भाजपा को 90 फीसदी वोट प्राप्त हुए।

You might also like