रेस में शिवाली स्टेट चैंपियन

हमीरपुर –सच कहा है कि पंखों से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती है….। हौसला है तो मंजिल आपके कदम चूमेगी, फिर चाहे आप किसी भी हालात में पले-बढ़े हों। इस बात को सच कर दिखाया है हमीरपुर जिला के धलौट गांव की शिवाली ने।  पिछले दिनों नालागढ़ में हुई प्रदेश एथलेटिक्स प्रतियोगिता अंडर-18 वर्ग मंे शिवाली ने 1500 और 3000 मीटर दौड़ में प्रथम स्थान हासिल कर दो स्वर्ण पदक अपने नाम किए। शिवाली की इस कामयाबी ने न केवल गोल्ड जीता है, अन्य युवाओं के समक्ष उदाहरण प्रस्तुत किया कि यदि सही दिशा में कड़ी मेहनत की जाए, तो सीमित संसाधनों के चलते भी सफलता प्राप्त की जा सकती है। शिवाली के पिता वतन सिंह धलौट में दर्जी की छोटी सी दुकान करते हैं। दो भाइयों की छोटी बहन शिवाली वर्तमान में राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला हमीरपुर में जमा दो की छात्रा है। उसने मैट्रिक तक की पढ़ाई राजकीय उच्च विद्यालय गुलेला में की है। बताते हैं कि जब शिवाली गुलेला में आठवीं कक्षा की छात्रा थी तो एक दिन स्कूल प्रांगण में खेलकूद  के दौरान, विद्यालय में बतौर विज्ञान अध्यापक सेवाएं दे रहे एवं पूर्व में राष्ट्रीय स्तर के एथलीट रहे रजनीश शर्मा की नजर उस पर पड़ी। उन्हांेने शिवाली में छिपी प्रतिभा को पहचाना और ट्रेंड करने का फैसला किया। तब से लेकर अब तक पिछले चार वर्षों से स्कूल की पढ़ाई के उपरांत वह रोजाना शिवाली को दो से तीन घंटे प्रशिक्षण देते रहे। यह उनके प्रशिक्षक की ट्रेनिंग और शिवाली की कड़ी मेहनत का नतीजा है कि आज वह स्टेट चैंपियन बन पाई। शिवाली की इस कामयाबी ने उसके माता-पिता के अलावा पूरे हमीरपुर जिला का नाम भी रोशन हुआ है।

इंटरनेशनल स्तर पर जीतना चाहती हंै पदक

शिवाली का लक्ष्य पहले राष्ट्रीय स्तर पर, फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए पदक जीतना है। पिछले वर्ष कुल्लू मे हुई प्रदेश एथलेटिक्स प्रतियोगिता में शिवाली ने अंडर-16 वर्ग में 1000 मीटर एवं 2000 मीटर में स्वर्ण पदक जीता था। उसी वर्ष हुई स्कूल स्टेट प्रतियोगिता में शिवाली ने 1500 मीटर मंे स्वर्ण एवं 3000 मीटर में रजत पदक जीता था। पिछले चार वर्षाें से प्रशिक्षण दे रहे रजनीश शर्मा ने बताया कि शिवाली मेहनती एवं प्रतिभाशाली बेटी है एवं निश्चित तौर पर आने वाले समय में देश व प्रदेश का नाम रोशन करेगी।

You might also like