रैला में चरमराई बच्चों की पढ़ाई

कुल्लू—जिला के बंजार उपमंडल के सीनियर सेकेंडरी स्कूल रैला में पिछले तीन-चार वर्षों से बच्चों की पढ़ाई असफल हो रही है। स्कूल में करीब आधा दर्जन से अधिक शिक्षकों के पद रिक्त होने से बच्चों की पढ़ाई राम भरोसे चल रही है। वहीं गैर शिक्षकों के न होने से कार्यालय का कार्य भी यहां तैनात अध्यापकों के सिरे पड़ने से स्थिति चिंताजनक हो गई है। स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष झाबे राम तथा उपाध्यक्ष जोगिंद्र सेन, धनीराम, रामप्यारी, भीमा देवी, शिवदयाल, टेक सिंह आदि सदस्यों ने बताया कि स्कूल में पिछले कई वर्षों से विभिन्न विषयों के खाली पदों को भरने के लिए विभाग को पत्र भेजा, लेकिन आज तक कोई हल नहीं निकला। समिति के सदस्यों ने कहा कि विभाग की अनदेखी के कारण स्कूल में दसवीं कक्षा का परिणाम 30 प्रतिशत से भी कम रहा और नया शैक्षणिक सत्र शुरू होने के बावजूद अभी तक अध्यापकों के खाली पदों को नहीं भरा गया। जिस कारण बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। स्कूल में मात्र 200 विद्यार्थी ही पढ़ रहे हैं। समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि इस संबंध में समिति विधायक सुरेंद्र शौरी की अगवाई में जल्द मुख्यमंत्री से अपनी मांग रखेगी ताकि स्कूल में बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो।

ये पद हैं खाली

प्रवक्ता राजनीति  शास्त्र वर्ष 2016 से

प्रवक्ता कम्प्यूटर शिक्षा  वर्ष 2016 से

टीजीटी आर्ट्स (दो पद) वर्ष 2015

टीजीटी नॉन मेडिकल वर्ष 2017

कला अध्यापक वर्ष 2012

वरिष्ठ सहायक वर्ष 2016 से

क्लर्क वर्ष 2006 से

You might also like